आगरा: औरत पर दौलत लुटा रहे बाप की रंगरेलियों से चिढ़े बेटे ने दी खौफनाक मौत

Smart News Team, Last updated: Thu, 9th Jul 2020, 5:15 PM IST
  • ताजनगरी आगरा के शमसाबाद थाना इलाके में एक बेटे ने ही अपने पहलवान बाप की हत्या को अंजाम दिया था। पुलिस की मानें तो वह अपने पिता द्वारा एक महिला पर पैसे लुटाने को लेकर काफी खफा था।
बेटे ने पिता को दी खौफनाक मौत

आगरा. ताजनगरी में महिला पर पैसे लुटाने वाले पहलवान बाप को उसके छोटे बेटे ने ही मौत के घाट उतार डाला। वारदात के समय पहलवान नारायण अपने घर के बाहर सो रहा था। इसी दौरान बेटे ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। आगरा पुलिस ने 14 दिनों में ही मामले का खुलासा कर आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही हत्या में प्रयुक्त पिस्टल को भी पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर बरामद कर ली है।

मिली जानकारी के अनुसार, मामला थाना शमसाबाद के गांव हिरनेर का है। 24 जून रात को नारायण पहलवान अपने घर के बाहर सो रहा था। उसी समय छोटे बेटे योगेंद्र ने पिता को गोली मार दी। जिसके बाद सुबह पुलिस को मामले की सूचना देकर अज्ञात आरोपी के खिलाफ तहरीर देकर केस भी दर्ज कराया। पुलिस को शुरुआती जांच में लगा कि पहलवान की हत्या सिर पर किसी चीज के वार से हुई है लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि मौत गोली लगने से हुई जो सिर में फंसी थी।

मोहब्बत की नगरी में सजा-ए-इश्क, बेटी के बॉयफ्रेंड को घर बुलाकर मार डाला

पुलिस ने मामले की छानबीन करते हुए सुराग ढूंढे जो उसके बेटे तक जा पहुंचे। पूछताछ के लिए पुलिस ने योगेंद्र को उठाया तो उसने जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने अपराध के दौरान इस्तेमाल पिस्टल भी बरामद कर ली। पुलिस ने बताया कि पहलवान का बेटे अपने पिता से नाराज था क्योंकि उसने हाल ही में किसी महिला को 15 लाख की जमीन दिलाई थी जबकि वह परिवार और दोनों बेटों को गिनकर पैसे देता था।

आगरा में 15 साल से कॉल गर्ल का सेक्स रैकेट चला रही सबसे बड़ी दलाल गिरफ्तार

पहलवान जिस महिला पर पैसा खर्च कर रहा था उसकी पहचान बेबी यादव के रूप में हुई है। पहलवान के बेबी पर खर्चों को सुनकर बेटा बर्दाश्त नहीं कर पाया और अपने पिता को मारने का प्लान बना लिया। उसके अनुसार ही आरोपी ने वारदात को अंजाम भी दिया। लेकिन अपराधी कितना भी शातिर हो पुलिस से नहीं बच पाता है और आखिरकार अपने पिता का हत्यारा योगेंद्र पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें