आगरा: पुलिस हिरासत में सफाईकर्मी की मौत पर बोलीं मायावती, UP सरकार दोषियों को दे सख्त सजा

Swati Gautam, Last updated: Wed, 20th Oct 2021, 4:24 PM IST
  • आगरा के मालखाने से 25 लाख रुपये की चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए सफाई कर्मचारी की मंगलवार रात को मौत हो गई. घटना पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, सफाईकर्मी की पुलिस हिरासत में हुई मौत अति-दुःखद व शर्मनाक. यूपी सरकार दोषियों को सख़्त सज़ा दे. पीड़ित परिवार की भी हर प्रकार से पूरी-पूरी मदद करे, बीएसपी की यह माँग.
आगरा: पुलिस हिरासत में सफाईकर्मी की मौत पर बोलीं मायावती, UP सरकार दोषियों को दे सख्त सजा. file photo

आगरा. आगरा के थाना जगदीशपुरा के मालखाने से 25 लाख रुपये की चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए सफाई कर्मचारी की मंगलवार रात को मौत हो गई. कहा जा रहा है कि पुलिस युवक पर चोरी की गई रकम की बरामदगी के प्रयास में लगी हुई थी. वहीं युवक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस वालों ने उसकी पिटाई की इसलिए युवक की मृत्यु हो गई. पुलिस वालों का कहना है कि अचानक अरुण की तबीयत खराब हो गई पुलिस अस्पताल लेकर पहुंची, जहां उसे मृत घोषित कर दिया. इस घटना पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने दोषियों को सख्त सजा देने की मांग की है.

मायावती ने ट्वीट कर लिखा कि आगरा में एक सफाई कर्मी की पुलिस हिरासत में हुई मौत अति-दुःखद व शर्मनाक. यूपी सरकार दोषियों को सख़्त सज़ा दे तथा पीड़ित परिवार की भी हर प्रकार से पूरी-पूरी मदद करे, बीएसपी की यह माँग. इतना ही नहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बाबू पुलिस को अपराधी बताते हुए लिखा कि भाजपा सरकार में पुलिस खुद अपराध कर रही है तो फिर अपराध कैसे रुकेगा. आगरा में पहले सांठगांठ कर थाने के मालखाने से 25 लाख की चोरी कराई गई फिर सच छिपाने के लिए गिरफ्तार किए गए सफाईकर्मी की कस्टडी में हत्या स्तब्ध करती है. हत्यारे पुलिस कर्मियों पर हो सख्त कार्रवाई.

आगरा पुलिस कस्टडी मौत: मृतक अरुण के परिजनों से मिलने जा रही प्रियंका को पुलिस ने रोका

 

क्या था मामला

दरअसल कुछ दिनों पहले आगरा के थाने के मालखाना से 25 लाख रुपये की चोरी हो गई थी. जहां रखा सोना भी गायब मिला. चोरी की घटना को पुलिस की लापरवाही बताया गया और कई पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया था. पुलिस ने थाने में सफाई कर्मचारी अरुण पर शक के बिहाफ़ पर उसकी तलाश शुरू कर दी. पुलिस ने बताया की वहा घटना के बाद से फरार था उसे ताजगंज क्षेत्र से पकड़ा गया. मंगलवार को पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया था और उससे पूछताछ की जा रही थी. इसी बीच मंगलवार की रात युवक की मौत की खबर समाने आई है. परिजन कह रहे हैं की पुलिस ने अरुण को पीटा है जिसके कारण उसकी मौत हो गई है. फिलहाल पुलिस को डर है की वाल्मीकि समाज के लोग एकजुट होकर हंगामा शुरू न कर दें इसलिए पुलिस ने थाने के आस पास सुरक्षा बढ़ा दी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें