अभी नहीं होंगे ताज महल के दीदार, कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार का फैसला

Smart News Team, Last updated: Mon, 6th Jul 2020, 11:17 AM IST
  • कोरोना काल में आगरा के ताजमहल को खुलने में अभी और समय लग सकता है। पहले 6 जुलाई से स्मारकों को खोलने की तैयारी थी लेकिन सरकार ने इस फैसले को बदल दिया है।
ताज के दीदार के लिए करना होगा अभी इंतजार

आगरा. अगर आप ताजनगरी में मोहब्बत की मिसाल ताज महल को देखने की तैयारी कर रहे हैं तो आपको अभी इंतजार करना होगा। केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आगरा जिले के ताजमहल, फतहपुर सीकरी, आगरा का किला, अकबर मकबरा सिकंदरा आदि संरक्षित स्मारकों को फिलहाल नहीं खोलने का आदेश लिया है। इससे पहले खबर आई थी कि 6 जुलाई से इन सभी स्मारकों को खोल दिया जाएगा।

जिलाधिकारी आगरा ने ट्वीट के जरिए इस बात की जानकारी दी। ट्वीट में कहा ''आगरा में कोविड-19 की वर्तमान हालात को ध्यान रखते हुए ऐतिहासिक स्मारक ताजमहल, आगरा किला, अकबर टॉम्ब सिकंदरा इत्यादि समस्त संरक्षित स्मारकों को 'बफर जोन' मानते हुए अग्रिम आदेशों तक अभी फिलहाल ना खोले जाने का निर्णय लिया गया।''

कोरोना अनलॉक फेज 2 में ताजमहल को ना खोलने का कारण एक ये भी माना जा रहा है कि यहां अधिकतर टूरिस्ट दिल्ली से होकर आते हैं, ऐसे में दिल्ली की हालात अभी ठीक नहीं है। अगर ऐसे समय में ताजमहल खोल दिया जाए तो आगरा में भी कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। 

आपको बता दें कि कोरोना लॉकडाउन के शुरू होने के बाद से ही इन सभी स्मारकों पर ताला लगा हुआ है। इससे यहां के स्थानीय रोजगार से जुड़े लाखों लोगों को घाटा उठाना पड़ रहा है। ताजनगरी के पेठे से लेकर होटलों तक के कारोबार पर बड़ा असर है। यहां तक की इन स्मारकों को घुमाने वाले गाइ़डो के घर खाने के लाले हैं, ऐसे में लोगों को इनके वापस खुलने का इंतजार है। लेकिन कोरोना को देखते हुए अभी शायद समय लग सकता है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें