आगरा: राजकीय बालगृह में दो दिनों में तीन शिशुओं की हुई मौत

Smart News Team, Last updated: 01/11/2020 07:19 PM IST
  • आगरा के राजकीय बालगृह सिरौली में दो दिन के अंदर तीन नवजात बच्चों की मौत का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है बालगृह प्रबंधन की और से इस मामले को दबाने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन बीते शनिवार बालगृह से जुड़े हुए खुलासे के बाद ही पूरे प्रशासन में हड़कंप मच गया.
राजकीय बालगृह सिरौली में दो दिन के अंदर तीन नवजात बच्चों की मौत

आगरा: आगरा के राजकीय बालगृह सिरौली में दो दिन के अंदर तीन नवजात बच्चों की मौत का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है बालगृह प्रबंधन की और से इस मामले को दबाने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन बीते शनिवार बालगृह से जुड़े हुए खुलासे के बाद ही पूरे प्रशासन में हड़कंप मच गया. बालगृह में हुए मासूमों की मौत से यहां बच्चों की देखभाल और पोषण को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं.

बताया जा रहा है कि बीते 24 अक्टूबक को चार महीने की एक बच्ची सुनीता को बालगृह से अस्पताल ले जाया जा रहा था, जिस दौरान उसकी मौत हो गई. वहीं, तीन महीने की नवजात प्रभा ने भी भर्ती होने के 24 घंटे के अंदर ही दम तोड़ दिया. इसके अलावा दो माह की अवनी ने भी अस्पताल में भर्ती होने के चार घंटे बाद ही दुनिया को अलविदा कह दिया. बता दें कि बच्चों को उपचार के लिए अस्पताल भेजा रहा था. उन्हें बाद में एसएन मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गाय था.

आगरा: ताज महल और आगरा किले को पर्यटकों की भीड़, लिमिट पूरी होने पर कई लौटे मायूस

आगरा में धनौली-जगनेर रोड पर स्थित राजकीय बाल गृह में एक महीने पहले 18 सितंबर को निरीक्षण समिति के अध्यक्ष और अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सर्वजीत कुमार सिंह ने जिला प्रोबेशन अधिकारी (डीपीओ) को निरीक्षण के बाद रिपोर्ट भेजी थी, जिसमें उन्होंने बच्चों के पोषण पर भी सवाल उठाए थे. निरीक्षण के कुछ दिनों बाद ही दो दिनों के अंदर तीन बच्चों की मौत का मामला सामने आया है. इस बात को लेकर बालगृह के अधीक्षक विकास कुमार ने कहा कि बच्चे प्री-मैच्योर थे और मौसम बदलने, ठंड आने से उनकी तबीयत खराब हो गई थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें