आगरा में टाइगर मच्छर बरपा रहा कहर, 60 दिनों में 718 मरीजों में डेंगू की पुष्टि

Somya Sri, Last updated: Thu, 4th Nov 2021, 10:51 AM IST
  • आगरा में अभी तक 718 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है. शहरी क्षेत्र में डेंगू के केस अधिक मिल रहे हैं. डेंगू फैलाने वाला मच्छर मादा एडीज एजिप्टी स्वच्छ पानी में पनपता है, शहरी क्षेत्र में घरों में पानी के भराव से मादा एडीज एजिप्टी पनप रहे हैं, इससे शहरी क्षेत्र में डेंगू के नए केस अधिक मिल रहे हैं.
आगरा में टाइगर मच्छर बरपा रहा कहर, 60 दिनों में 718 मरीजों में डेंगू की पुष्टि (फाइल फोटो)

आगरा: आगरा में डेंगू का कहर जारी है. दीपावली से पहले आगरा में अबतक 718 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है. अगस्त के बाद से टाइगर मच्छर, मादा एडीज एजिप्टी का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा. विशेषज्ञ बताते हैं कि जिस तरह से आगरा में डेंगू का प्रकोप बढ़ रहा है और डेंगू केस में लगातार संख्या बढ़ रही है. इससे कहा जा सकता है कि आगरा में प्रतिदिन 30 से अधिक डेंगू के नए केस मिल सकते हैं. विशेषज्ञ के अनुसार इन नए केसों में अधिकतर मरीज शहरी क्षेत्रों के हैं. उन्होंने बताया कि डेंगू के नए केस में 60 फीसद मरीज शहरी क्षेत्र से मिल रहे हैं जबकि 40 फीसदी मरीज गांव देहात से हैं.

एमओ डा. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि अभी तक 718 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है. शहरी क्षेत्र में डेंगू के केस अधिक मिल रहे हैं. डेंगू फैलाने वाला मच्छर मादा एडीज एजिप्टी स्वच्छ पानी में पनपता है, शहरी क्षेत्र में घरों में पानी के भराव से मादा एडीज एजिप्टी पनप रहे हैं, इससे शहरी क्षेत्र में डेंगू के नए केस अधिक मिल रहे हैं.

UP पेट्रोल डीजल 4 नवंबर रेट: Excise VAT घटा, दीपावली पर लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, प्रयागराज में तेल सस्ता

वहीं जानकारी के मुताबिक दयालबाग में डेंगू के 45 मरीज मिल चुके हैं, इसके बाद यमुना पार में डेंगू के 25 मरीज मिले हैं और शाहगंज, कमला नगर में 20 20 डेंगू के मरीज मिल चुके हैं. देहात में बरौली अहीर में डेंगू के 30 केस मिले हैं.

बताया जा रहा है कि मादा एडीज एजिप्टी मच्छर स्वच्छ पानी में पनपता है. जिससे डेंगू का संक्रमण फैलता है. एक्सपर्ट के मुताबिक डेंगू से बचने के लिए अपने आसपास मच्छर को पनपने नहीं देना चाहिए. उसके लिए जरूरी है कि घर में पानी का जल जमाव ना हो. इसके अलावा एंटी लार्वा का लगातार छिड़काव होना भी जरूरी है. जिससे डेंगू के संक्रमण से बचा जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें