आगरा तिहरे हत्याकांड में आरोपी सुभाष के भाई को सबूत मिटाने के आरोप में भेजा जेल

Smart News Team, Last updated: 05/09/2020 11:42 AM IST
  • आगरा के तिहरे हत्याकांड में पुलिस ने एक और गिरफ्तारी की है. पुलिस ने मुख्य आरोपी सुभाष के भाई को सबूत मिटाने के आरोप में गिरफ्तार किया है.
राकेश की गिरफ्तारी के लिए नगला किशनलाल पहुंची पुलिस

आगरा. नगला किशनलाल में लूट के लिए हुए तिवारी हत्याकांड में पुलिस ने एक व्यक्ति को और गिरफ्तार किया है. इस हत्याकांड में पुलिस ने मुख्य आरोपी सुभाष के एक और भाई राकेश को गिरफ्तार किया है.

पुलिस के अनुसार जब सुभाष लाशों को ठिकाने लगा रहा था तब राकेश की नींद खुल गई. वह अपने कमरे से बाहर भी आया लेकिन इसके बावजूद वह वह चुप रहा. इसके अलावा उसने बबलू के कागजातों के बैक को भी छुपाया था. इस मामले में पुलिस ने राकेश को भी जेल भेज दिया है.

आगरा: कांग्रेस ने करवाई जीडीपी की उठावनी, देहांत बताकर जताया शोक

आपको बता दें कि मामला 30 अगस्त की रात को है जहां सुभाष ने एक परिवार के 3 लोगों की हत्या की थी. सुभाष ने नंगला किसान लाल के ही रामवीर उनके बेटे बबलू और उसकी पत्नी मीरा की हत्या की और उसके बाद रसोई में शवों पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगाई थी. हालांकि जब मीरा को जलाया गया तो उसकी मौत नहीं हुई थी वह सिर्फ बेहोश थी.

जब 31 अगस्त को इस घटना की जानकारी सामने आई तो पुलिस ने 1 सितंबर को सुभाष और वकील को गिरफ्तार किया. 2 सितंबर की सुबह पुलिस ने सुभाष के भाई गजेंद्र को भी गिरफ्तार किया. इसके अलावा पुलिस ने हत्या का षड्यंत्र रचने और बाद में साक्ष्य मिटाने के आरोप में सुभाष की मां एलम देवी और पिता वीरपाल को भी जेल भेजा था.

आगरा में 5 साल की मासूम का रेप करने के आरोप में जेल, इलाके में तनाव, पीएसी तैनात

सीईओ छत्ता विकास जायसवाल ने बताया कि सुभाष का भाई राकेश भी इस साजिश में शामिल था. उसने हत्या के बाद साक्ष्य नष्ट किए थे इसलिए उसे भी जेल भेजा गया है. इस हत्याकांड मैं जल्द ही चार्जशीट पेश की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें