आगरा: तिहरे हत्याकांड में खुलासा 3 लाख रुपये के लिए मारे थे पति-पत्नी और बेटा

Smart News Team, Last updated: 01/09/2020 09:17 AM IST
  • एत्मादुद्दौला क्षेत्र में हुए ट्रिपल मर्डर के आरोपियों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है. मुठभेड़ में गोली लगने से दोनों बदमाश घायल हो गए. बदमाशों के 3 लाख रुपये उधार थे दिसके कारण उन्होंने पति-पत्नी और बेटे की हत्या कर दी थी.
आगरा: तिहरे हत्याकांड में  शामिल बदमाश मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार

आगरा. आगरा में सोमवार को हुए तिहरे हत्याकांड में खुलासा हुआ और बदमाशों को पकड़ा गया है. हत्याकांड में खुलासा हो गया है और इसमें शामिल बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया है. एत्मादुद्दौला के नगला किशनलाल में हुए तिहरे हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस ने बदमाशों को पकड़ लिया. हत्याकांड के 24 घंटे के अंदर ही खुलासा किया और एक मुठभेड़ में बदमाश धर लिए. पुलिस ने हत्या के पीछे के कारण का खुलासा करते हुए इसे लूट के लिए वारदात बताया है.

पुलिस ने दावा किया है कि मोहल्ले के सुभाष उसके भाई गजेंद्र और वकील ने लूट के लिए वारदात की थी. पुलिस ने बताया कि बदमाशों ने अपेन घर पर पहले रामवीर सिंह और बेटे बबलू की हत्या की फिर उनकी लाश को कंधे पर लादकर रामवीर के घर लाए. वहां उन्होंने रामवीर की पत्नी मीरा के सर पर मारा और उसे जिंदा जला दिया. मिट्टी का तेल जालकर उन्होंने रामवीर और बबलू के शव भी जलाए. बदमाशों और पीड़ित का घर 50 मीटर की दूरी पर ही बताया जा रहा है.

तिहरे हत्याकांड से दहशत! हाथ, पैर और मुंह बांध पति-पत्नी और बेटे को जिंदा जलाया

पुलिस ने बताया कि सुभाष के तीन लाख रुपए रामवीर पर उधार थे. उसने पांच लाख रुपये वापसी की शर्त के साथ तीन लाख उधार दिए थे. लेकिन रुपये वापस ना मिलने पर उसने सोमवार को रामवीर और परिवार की हत्या कर दी. पहले उन्होंने रामवीर को रविवार की रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अपने घर बातचीत के लिए बुलाया. इसी के बाद रुपये ना मिलने पर उन्होंने रामवीर को मारा. फिर फंसने के डर से रामवीर के बेटे बबलू को घर से यह कहकर बुलाया कि रामवीर ने उसे बुलाया है. 

आगरा: बहन से छेड़छाड़ का विरोध करने पर भाई की हत्या, मुकदमा दर्ज

बदमाशों ने चार्जर की डोरी से बबलू का गला घोंट दिया. रात डेढ़ बजे एक-एक करके वो उन शव को रामवीर के घर ले गए. वहां उन्होंने मीरा को मारा और तीनों को रसोई में ले जाकर मिट्टी का तेल डाला और आग लगा दी. इसी के बाद जांच में जुटी पुलिस ने मंगलवार की रात कालिंदी विहार मार्ग पर मुठभेड़ में बदमाशों को गिरफ्तार किया. पुलिस ने बताया कि उधार के अलावा इसमें लूट भी की गई है. लूट में बदमाशों को महज 80 हजार रुपये मिले. रामवीर का मोबाइल अभी तक नहीं मिला है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें