आगरा: उपकार प्रकाशन का कर्मी स्टोर में फंदे पर लटका मिला, पुलिस की जांच शुरू

Smart News Team, Last updated: 12/08/2020 10:52 AM IST
  • आगरा में उपकार प्रकाशन के कार्यालय के स्टोर में उनका एक कर्मी फंदे पर लटका मिला. पुलिस की जांच शुरू हो गई है. पुलिस ने सीसीटीवी की जांच की है जिसमें वो अकेले गैलरी में जाता दिख रहा है.
आगरा: उपकार प्रकाशन का कर्मी स्टोर में फंदे पर लटका मिला, पुलिस की जांच शुरू

न्यू आगरा क्षेत्र में सर्विस रोड स्थित उपकार प्रकाशन के कार्यालय के स्टोर में मंगलवार की दोपहर एक कर्मचारी का शव दूसरी मंजिल पर किताबों के गोदाम में फंदे पर लटका मिला. मामले की जानकारी पुलिस और कर्मी के परिजनों को दी गई. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा. परिजन भी मौके पर आ गए. परिजनों ने वहां हंगामा किया और मुआवजे की मांग की. फिलहाल इस संबंध में कोई तहरीर नहीं दी गई. पुलिस जांच कर रही है.

पुलिस ने बताया कि आत्महत्या की वजह साफ नहीं हो सकी है. बल्केश्वर लाल मस्जिद निवासी 46 वर्षीय सुनील सिंह पुत्र मुन्नालाल, उपकार प्रकाशन में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी था. सुनील सिंह रोज की तरह सुबह करीब सवा नौ बजे कार्यालय आया था. दस बजे जब वो स्टाफ को चाय नहीं देने आया तो उन्होंने मैनेजर देवेंद्र शर्मा को बताया. इसके बाद सुनील की तलाश शुरू हुई.

आगरा: सोता रह गया परिवार और चोरों ने कर दिया 9 लाख रुपयों का माल साफ

स्टोर में सुनील कहीं नहीं दिखा तो प्रकाशन केंद्र में लगे सीसीटीवी कैमरों को चेक किया. इसमें वह परिसर से बाहर जाता नहीं दिखा. कर्मचारी अंदर उसकी तलाश में जुट गए. करीब दो घंटे तलाशने के बाद सुनील का शव गैलरी में रैक पर साफी से लटका मिला. रैकों के किनारे पर रस्सी बांधकर उसके बीच में साफी का फंदा बनाया गया था.

आगरा में अपराधियों का आतंक, तेरहवीं से लौट रहे युवक की गोली मारकर हत्या

पिता मुन्नालाल ने आरोप लगाया कि सुनील को दो महीने से वेतन नहीं मिला था. एक बार नौकरी छोड़ दी थी दोबारा ज्वाइन कर ली थी. मैनेजर देवेंद्र शर्मा ने पुलिस को बताया कि सुनील एक साल पहले काम छोड़कर चला गया था. अनलॉक में दोबारा नौकरी पर आया था. शव मिलने के बाद गैलरी में लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किए गए तो सुनील सुबह 9:44 बजे अकेले गैलरी की तरफ जाता दिखा. उसके पीछे कोई नहीं था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें