हाथरस कांड के विरोध में आगरा के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल, सफाई व्यवस्था ठप

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 11:49 AM IST
  • आगरा में हाथरस कांड के विरोध में वाल्मीकि समाज और नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने दूसरे दिन भी शहर में सफाई का काम ठप रखा. 
हाथरस कांड के विरोध में आगरा के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल, सफाई व्यवस्था ठप.

आगरा. आगरा में हाथरस की गैंगरेप पीड़िता के लिए न्याय की मांग कर रहे वाल्मीकि समाज और नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने दूसरे दिन भी शहर में सफाई का काम ठप रखा. वाल्मीकि महापंचायत की ऐलान के बाद सफाई कर्मचारी काम पर वापस नहीं लौटे. 

वहीं, नगर निगम कर्मचारी महासंघ ने इस संबंध में हड़ताल खत्म करने की घोषणा की थी. लेकिन, सफाई कर्मचारी नही लौटे. साथ ही इन लोगों ने नगर कर्मचारी संघ के समर्थक कर्मचारियों को भी काम नहीं करने दिया. 

हाथरस जाते राहुल, प्रियंका को नोएडा में अरेस्ट के बाद छोड़ा, गेस्ट हाउस से निकले

इसके अलावा हाथरस गैंगरेप की घटना के विरोध में सफाई कर्मचारियों ने नगर निगम के वर्कशाप और जोनल कार्यालयों से शहर के लिए वाहन नहीं निकले दिया. जिससे पूरे शहर में  कचरे के ढेर लग गए. वहीं, कंटेनर उफनने लगे हैं और कचरा सड़क पर बिखरा पड़ा है. जिस कारण पूरा शहर में बदबू फैल गई है. इससे नगर निगम के अधिकारी परेशान है.

हाथरस मामला: एडीजी ने कहा- फॉरेंसिक रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि नहीं

आपको बता दें कि 14 सितंबर को राज्य के हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में 19 साल की एक दलित लड़की से सामूहिक दुष्कर्म किया गया. हालांकि, पुलिस ने रेप की बात से इनंकार किया है.  गौरतलब है कि युवकों ने पीड़िता से बलात्कार के साथ-साथ उसकी जीभ काट दी और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी. 

इसके बाद पीड़िता को अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. जहां से उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में रेफर कर दिया गया. 29 सितंबर को पीड़िता की दिल्ली के सफजरजंग अस्पताल में मौत हो गई. इसके बाद यूपी में इस घटना को लेकर विभिन्न राजनीतक दलों और संगठनों ने विरोध किया है. इस मामले में राजनीतिक तूल बढ़ता जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें