आगरा

लोकल के लिए वोकल: आगरा में अब बनेगा खादी का जूता, देशभर में होगी सप्लाई

Smart News Team, Last updated: 20/06/2020 10:59 AM IST
  • आगरा में जल्द ही स्वदेशी खादी से जूते तैयार होने शुरू होंगे। खादी ग्रामोद्योग ने खादी के जूते बनाने के लिए शहर की डाबर फुटवियर इंडस्ट्रीज और त्रिशुलि कलेक्शन से संपर्क भी किया था। जूते तैयार होने के बाद उनके सैंपल को खादी मंत्रालय भेज दिया गया है।
आगरा में जल्द तैयार होंगे स्वदेशी खादी के जूते ( प्रतीकात्मक तस्वीर)

आगरा. कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'लोकल के लिए वोकल' बनने के कथन की रूपरेखा जल्द ही आगरा में रूप लेने जा रही है। दरअसल ताजनगरी में अब जल्द ही स्वदेशी खादी के जूते तैयार किए जाएंगे। इसके लिए हाल ही में खादी ग्रामोद्योग ने खादी के जूते बनाने के लिए शहर की डाबर फुटवियर इंडस्ट्रीज और त्रिशुलि कलेक्शन से संपर्क भी किया था। जूते तैयार होने के बाद उनके सैंपल को खादी मंत्रालय भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय सक्सेना ने स्वदेशी खादी को बढ़ावा देने के लिए आगरा के फुटवियर कारोबारी पूरन डाबर से कुछ दिनों पहले संपर्क किया था। उन्होंने आगरा में खादी के जूते तैयार करने के लिए कहा था जिससे खादी को बढ़ावा मिले और खादी से जुड़े लोगों को रोजगार भी दिया जा सके।

आगरा फुटवियर मैन्यूफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्टर्स चैंबर के अध्यक्ष पूरन डाबर ने इस संबंध में बताया कि हम लोग खादी के जूते तैयार करने के लिए तैयार हैं। डाबर शूज के साथ त्रिशुलि कलेक्शन की श्रुति कौल ने सैंपलिंग कराकर दिल्ली मंत्रालय को भेज दी है। पूरन डाबर ने कहा कि खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन ने खादी के जूते तैयार करने में काफी दिलचस्पी दिखाई। खादी के जूते की लागत चमड़े के जूते से सस्ती और यह टिकाऊ भी रहेगा। कई लोग चमड़े के जूते पहनने से परहेज करते हैं, उनको भी यह जूते रास आएंगे।

श्री क्षेत्रीय गांधी आश्रम मंत्री शंभू नाथ चौबे ने बताया कि खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय सक्सेना ने खादी के जूते बनाने के लिए शहर के दो कारोबारी से संपर्क किया था। डाबर शूज के सात सैंपल, त्रिशुलि कलेक्शन से 15 सैंपल तैयार कर दिल्ली भेजे गए हैं। मंत्रालय में इसकी सैंपलिंग भी दिखा दी गई है। जल्द ही पूरे भारत के लोग आगरा में तैयार खादी का जूता पहनेंगे।

मालूम हो कि ताजनगरी में खादी का कारोबार करीब पांच से छह करोड़ तक पहुंचता है लेकिन खादी के जूते बनने के बाद आगरा के फुटवियर इंडस्ट्रीज को न सिर्फ बड़ा ऑर्डर मिलेगा, बल्कि खादी का कारोबार भी देशभर में बढ़ेगा। बताया जा रहा है कि पहले खादी के लेडीज जूते तैयार होंगे। देशभर के खादी स्टोरों में इसकी सप्लाई आगरा से की जाएगी। लेडीज जूते की बिक्री की संभावना अधिक जताई जा रही है। क्योंकि अभी तक जो लेडीज कलरफुल जूते पहनती हैं, उसमें सिंथेटिक पहनती हैं, हवा नहीं जा पाती है। जबकि खादी के कपड़े में हवा जा सकती है।

अन्य खबरें