आगरा में अखिल भारतीय कुशवाह महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रेमचंद कुशवाहा की गाड़ी में लगाई आग, दहशत में परिवार

Somya Sri, Last updated: Mon, 4th Oct 2021, 5:04 PM IST
  • अखिल भारतीय कुशवाह महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रेमचंद कुशवाहा के घर के बाहर खड़ी उनकी गाड़ी में पेट्रोल डालकर आग लगा दी गई. यह घटना बीती रात करीब 2:00 बजे घटी. प्रेमचंद कुशवाहा का आरोप है कि उनके परिवार को भी जिंदा जलाने की कोशिश की गई थी. उनका कहना है कि वारदात को किसने अंजाम दिया है यह उन्हें भी नहीं पता है.
आगरा में अखिल भारतीय कुशवाह महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रेमचंद कुशवाहा की गाड़ी में लगाई आग. (फाइल फोटो)

आगरा: अखिल भारतीय कुशवाह महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रेमचंद कुशवाहा के घर के बाहर खड़ी उनकी गाड़ी में पेट्रोल डालकर आग लगा दी गई. यह घटना बीती रात करीब 2:00 बजे घटी. प्रेमचंद कुशवाहा का आरोप है कि उनके परिवार को भी जिंदा जलाने की कोशिश की गई थी. उनका आरोप है कि उनके कमरे में भी पेट्रोल डाला गया था और घर का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया गया था.

प्रेमचंद कुशवाह ने बताया कि बीती रात जब ये घटना हुई तब घर में पत्नी सरोज कुशवाह, बेटी संजना, आस्था, बेटा माधव और वो गहरी नींद में थे. संयोग से बड़े भाई लघुशंका के लिए उठे उन्होंने बाहर खड़ी गाड़ी से धुआं उठता देखा. उन्होंने बताया कि बड़े भाई की वजह से उन्हें गाड़ी में आग लगने की सूचना मिली. फिर वे जब बाहर आने की कोशिश किये तो घर का दरवाजा बाहर से बंद था. प्रेमचंद कुशवाह के बड़े भाई ने दरवाजा खोला. फिर घर में मौजूद सभी लोग बाहर आ गये.

आगरा-इटावा रेल लाइन पर ट्रेन की चपेट में आने से 5 गायों की मौत, लोगों में दिखा आक्रोश

बताया जा रहा है कि घर के बाहर खड़ी कार जलकर खाक हो चुकी है. सबमर्सिबल चलाकर प्रेमचंद कुशवाहा ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया पर गाड़ी पूरी तरह से खाक हो गई. उन्होंने घटना की सूचना पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी. मौके पर पहुंची फायर बिग्रेड ने आग पर काबू पाया. वहीं पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई में जुट गई है. प्रेमचंद कुशवाहा का कहना है कि उनके परिवार को भी जिंदा जलाने की साजिश रची गई थी. हालांकि बड़े भाई की नींद खुलने की वजह से उनके परिवार और उनकी जान बच गई. उनका कहना है कि वारदात को किसने अंजाम दिया है यह उन्हें भी नहीं पता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें