छोटे कारोबारियों को बड़ी राहत, अब त्रैमासिक जमा कर सकेंगे GST रिटर्न

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 11:46 PM IST
  • कोरोना काल में छोटे कारोबारियों को बड़ी राहत मिली है. दरअसल 5 करोड़ रुपये तक के टर्नओवर वाले छोटे कारोबारी 1 जनवरी से अपना त्रैमासिक जीएसटी रिटर्न जमा कर सकते हैं. 
कोरोना काल में छोटे कारोबारियों को जीएसटी रिटर्न भरने में बड़ी राहत मिली है

एक जनवरी से सालाना पांच करोड़ रुपये तक के टर्नओवर वाले व्यापारी अपना मासिक रिटर्न जीएसटीआर 3बी त्रैमासिक जमा कर सकते हैं. लेकिन उनको जीएसटी की राशि का भुगतान उन्हें हर महीने ही करना होगा. इसके लिए संबंधित कर देयता वाले माह के अगले महीने की 25 तारीख तक यह टैक्स पीएमटी 06 के माध्यम से जमा किया जाएगा. जीएसटी की धनराशि चालान से जमा कराकर यह फार्म पूरे विवरण के साथ जीएसटी पोर्टल पर अपलोड करना होगा। इस विकल्प का चयन पिछले तिमाही के दूसरे महीने के पहले दिन से वर्तमान तिमाही के पहले महीने के अंतिम दिन के पहले किसी भी तिमाही का विकल्प चुना जा सकता है. यह सुविधा छोटे कारोबारियों एवं सेवा प्रदाताओं को राहत देने के उद्देश्य से दी गई है.

यह जानकारी देते हुए अधिवक्ता संतोष कुमार गुप्ता ने बताया कि इस योजना के तहत कारोबारियों को अपना त्रैमासिक जीएसटीआर. त्रैमास की समाप्ति से अगले माह की 13 तारीख तक पोर्टल पर अपलोड करना होगा. वहीं जीएसटीआर 3बी त्रैमास की समाप्ति के बाद के महीने की 24 तारीख तक जमा करना होगा. ऐसे कारोबारी जिनका कुल कारोबार चालू वित्तीय वर्ष में एक तिमाही के दौरान पांच करोड़ रुपये से अधिक हो जाता है. वे उसी तिमाही से मासिक आधार पर रिटर्न दाखिल करने का विकल्प पोर्टल पर चुनेंगे.

UP पुलिस की 40 महिला सिपाहियों को परेशान कर रहा सिरफिरा, शिकायत दर्ज

रिटर्न नहीं तो ई-वे बिल नहीं

ऐसे कारोबारी जिन्होंने लगातार दो रिटर्न नहीं भरे हैं. वे ई-वे बिल जेनरेट नहीं कर पाएंगे. यह कार्य स्वत: ही पोर्टल से रुक जाएंगे. त्रैमासिक रिटर्न के मामले में दो माह के पीएमटी 06 भुगतान कर अपलोड नहीं करना शामिल है. समाधान वाले कारोबारी यदि त्रैमास अवधि के जीएसटी भुगतान व संबंधित फार्म सीएमपी 06 पोर्टल पर अपलोड नहीं करेंगे तो ई-वे बिल जेनरेट नहीं होगा.

आगरा में गलत इंजेक्शन लगाने से मरीज की मौत, तीमारदारों ने किया जमकर हंगामा

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें