ताज का दीदार करना हो सकता है महंगा, अगर इन बातों का नहीं रखा ध्यान

Smart News Team, Last updated: Sat, 19th Dec 2020, 10:10 AM IST
  • आगरा के आसपास के साइबर कैफे और अन्य दुकानदार ताजमहल की टिकट बुक कर रहे हैं और बाद में इन्हें महंगे भाव में बेचा जा रहा है. इसके कारण आने वाले सैलानियों के लिए समस्या काफी बढ़ गई. उन्हें टिकट महंगा होने के कारण निर्धारित टिकट से ज्यादा पैसा देना पड़ रहा है. पुरातत्व विभाग की तमाम कोशिशों के बाद भी इस समस्या का हल अभी तक नहीं हो पाया है.
ताजमहल को देखने के लिए आने वाले सैलानियों को टिकट महंगे बेच रहे हैं लंपटे.(फाइल फोटो) 

आगरा. ताजमहल की टिकट बुकिंग में धांधली की समस्या काफी देखने को मिल रही है. इसके लिए आसपास के साइबर कैफे और अन्य दुकानदार ताजमहल की टिकट बुक कर रहे हैं और बाद में इन्हें महंगे भाव में बेचा जा रहा है. इसके कारण आने वाले सैलानियों के लिए समस्या काफी बढ़ गई. उन्हें टिकट महंगा होने के कारण निर्धारित टिकट से ज्यादा पैसा देना पड़ रहा है. पुरातत्व विभाग की तमाम कोशिशों के बाद भी इस समस्या का हल अभी तक नहीं हो पाया है. 

पुरातत्व विभाग ने एक आईडी पर पांच टिकट जारी करने बुक करने का नियम बनाया है जिसका फायदा आम लोगों की बजाए इन लपकों को मिल रहा है. वे अपने और अपने परिवार के किसी अन्य सदस्य की आईडी पर टिकट बुक कर लेते हैं और बाद में इन्हें महंगे भाव पर बेचा जाता है. साथ ही कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रतिदिन तय टिकट होना इनके लिए और भी मुनाफा दे रहा है. कम टिकट के कारण इसे महंगे से महंगा बेचने में आसानी हो रही है.  

आगरा के दो लोगों ने हरियाणा में व्यापार के नाम पर की लाखों की धोखाधड़ी

ताजमहल को देखने आने से पहले सैलानियों को कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए. आने से पहले सैलानियों को ताजमहल और अन्य स्मारकों को देखने आने से पहले टिकट की बुकिंग कर लें.भारतीय सैलानियों की टिकट 50 रूपए है इससे ज्यादा किसी को न दें. साथ ही14 साले से कम आयु के बच्चों के लिए टिकट की आवश्यकता नहीं है. लपके पहले टिकट बुक करके बाद में उसे महंगा बेचते हैं इसलिए उनसे की बचने की कोशिश करें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें