कलयुग में अभिमन्यु जैसे बच्चे लेंगे जन्म! प्रेगनेंट महिलाओं को दी जाएगी ट्रेनिंग

Smart News Team, Last updated: Wed, 31st Mar 2021, 10:57 AM IST
  • आगरा में एक नया फॉर्मूला शुरू किया जा रहा है. जिसमें प्रेगनेंट महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे उनके आने वाला बच्चे का दिमाग गर्भ में ही तेजी से विकसित होना शुरू कर दे. 
ब्रेन बिफोर बर्थ कॉन्सेप्ट आगरा में शुरू होने जा रहा है.

आगरा. विज्ञान हर दिन तरक्की करता जा रहा है. अब इंसान विज्ञान के जरिए कलयुग में महाभारत काल के अभिमन्यु जैसे बच्चे जन्म ले सकेंगे. विज्ञान का मानना है कि बच्चे का दिमाग मां के गर्भ में पूरी तरह विकसित किया जा सकता है. बच्चे की बौद्धिक क्षमता का गर्भ में ही विकास करने के लिए आगरा में एक पहल की जा रही है.

विज्ञान के अनुसार बच्चा गर्भ में पांचवे महीने में ही सुनना और रोशनी देखना शुरू कर देता है. इसी के आधार पर आगरा में ब्रेन गुरुकुल रेनबो हॉस्पिटल के साथ काम शुरू कर रहा है. जिसमें बच्चे के दिमाग को विकसित करने पर काम किया जाएगा. इसके लिए 15 महिलाएं अपना रजिस्ट्रेशन भी करवा चुकी हैं. बता दें कि भारत में पहली बार ब्रेन बिफोर बर्थ के कॉन्सेप्ट पर काम किया जाएगा. 

CM योगी का आदेश- कोरोना के कारण चार अप्रैल तक बंद रहेंगे एक से 8वीं तक स्कूल

विज्ञान की इस नए कॉन्सेप्ट में प्रेगनेंट महिला को 45 घंटे की ट्रेनिंग दी जाएगी जिसमें दिमागी कसरत से लेकर वर्चुअल टेस्ट, एरोमा एक्सरसाइज, योगा, मेडिटेशन, दोनों हाथ से काम करना आदि कराया जाएगा.

माना जाता है कि जो गर्भवती महिला जो खाती है या जिस माहौल में रहती है उसका असर बच्चे पर पड़ता है. इसी को ध्यान में रखते हुए आगरा में ब्रेन गुरुकुल रेम्बो अस्पताल के साथ ब्रेन बिफोर बर्थ कॉन्सेप्ट लेकर आ रहा है. 

शर्मनाक ! लखनऊ PGI में 4 घंटे तक एम्बुलेंस में तड़पती रही कोरोना संक्रमित महिला 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें