किसान आंदोलन के कारण चौथे दिन भी नहीं दौड़ पाईं आगरा-दिल्ली हाईवे पर बसें

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 08:32 PM IST
  • किसान आंदोलन के कारण ही आगरा-दिल्ली हाईवे पर चौथे दिन भी बसों का संचालन नहीं हुआ. आगरा से मथुरा और दिल्ली की सफर करने वाले लोगों को इधर-उधर टैक्सी के इंतजार में भी भटकना पड़ा.
फाइल फोटो 

आगरा: किसानों आंदोलन के कारण यात्रियों पर भी इसका गहरा असर पड़ता हुआ नजर आ रहा है. कई मार्ग किसानों द्वारा प्रदर्शन के कारण जाम कर दिये गए हैं, ऐसे में वाहनों की आवाजाही भी रुकी हुई है. किसान आंदोलन के कारण ही आगरा-दिल्ली हाईवे पर चौथे दिन भी बसों का संचालन नहीं हुआ. आगरा से मथुरा और दिल्ली की सफर करने वाले लोगों को इधर-उधर टैक्सी के इंतजार में भी भटकना पड़ा.

बता दें कि किसान आंदोलन और भारत बंस का असर यात्रियों पर पड़ता हुआ नजर आ रहा है. आंदोलन के कारण ही हाइवे पर बसें नहीं दौड़ सकीं, जिससे आगरा की आईएसबीटी परिसर में बसों की भी भीड़ लगी हुई नजर आई. इसके साथ ही आईएसबीटी में भी एक-दो लोग ही नजर आए. जहां एक तरफ आगरा-दिल्ली हाइवे पर बसों का संचालन रुका हुआ है तो वहीं कानपुर, बनारस, लखनऊ, चित्रकूट, मुरादाबाद, जयपुर जाने वाली बसें भी कम यात्री लेकर ही रवाना हुईं.

आगरा मेट्रो के कोच मेड इन इंडिया, जल्द मेट्रो न्यू योजना पर काम होगा शुरू

फरीदाबाद और दिल्ली जाने वाले यात्रियों को यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए सफर करना पड़ा. इस बारे में बात करते हुए एआरएम जयप्रकाश सिंह ने बताया कि आगरा मार्ग से दिल्ली के लिए रोजाना करीब 12 बसों का संचालन होता है. इन बसों से लगभग 30000 यात्री मथुरा, पलवल, बल्लभगढ़, फरीदाबाद और दिल्ली के लिए सफर करते हैं. लेकिन इन दिनों बसों का संचालन बंद होने के कारण वह दूसरे वाहनों का सहारा लेकर गंतव्य स्थान तक पहुंच रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें