महिला जिंदा जलने के मामले में पड़ोसी पर केस, कालोनी में पुलिस फोर्स तैनात

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 12:43 PM IST
  • महिला जिंदा जलने के मामले में पड़ोसी पर केस किया गया है. बच्चों के झगड़े में महिला पर पड़ोसी ने एससी एसटी एक्ट में केस किया था. इसी के डर से महिला जिंदा जल गई और सोमवार को उसकी मौत हो गई. वहीं हंगामें की आशंका से कालोनी में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है. 
महिला जिंदा जलने के मामले में पड़ोसी पर केस. हंगामें की आशंका पर कालोनी में पुलिस फोर्स तैनात की गई है.

आगरा. आगरा में सोमवार को एक महिला के जिंदा जलने के मामले में उसके पड़ोसियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. ताजगंज के पुष्पांजलि ईको सिटी कालोनी निवासी संगीता राजावत को जिंदा जलाने के मामले में पड़ोसी भरत खरे और उनकी पत्नी सुनीता के खिलाफ मंगलवार को ताजगंज थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया. दरअसल, भरत ने मृतक संगीता और उनके पति अनिल राजावत के खिलाफ केस लिखवाया था.

महिला पर उसके पड़ोसियों ने एससी एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज किया था जिसके बाद पंचायत हुई और डर से संगीता जिंदा जल गई. वहीं इलाके में हंगामें की आशंका के चलते पुलिस फोर्स तैनात की गई है. मामले की जांच कर रहे एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद कालोनी में पहुंचे हैं. वहीं दिल्ली से शाम तक संगीता का शव लेकर उसके परिजन भी कॉलोनी पहुंचेंगे. कालोनी में तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात की गई है.

बच्चों के झगड़े में SC/ST एक्ट में केस दर्ज, डर से जिंदा जल गई फौजी की बीवी, मौत

गौरतलब हो कि पुष्पांजलि ईको सिटी कॉलोनी में रिटायर फौजी के बच्चों का झगड़ा पड़ोस में साथ खेल रहे बच्चों से हो गया. इस पर फौजी के परिवार पर एससी एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज करा दिया गया. परेशान रिटायर फौजी की पत्नी थोड़ी देर बाद आग की लपटों से घिरी मिली. आग बुझाने के बाद परिजन तुरंत हॉस्पिटल ले गए. वहां से उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया गया. दिल्ली में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. 

सबक सिखाने को दुकान के बाहर पेंटर ने लिखा कुछ ऐसा कि पुलिस को जोड़ने पड़े हाथ

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें