आगरा में मिट्टी की ढाय में दबे बच्चे, तीन की मौत पांच हुए घायल

Smart News Team, Last updated: Fri, 1st Jan 2021, 2:10 PM IST
  • सिकंदरा के रुनकता गांव में गुरुवार की दोपहर करीब साढ़े तीन बजे मिट्टी की ढाय ढह गई, जिसमें वहां खेल रहे बच्चे भी बुरी तरह दब गए. मिट्टी की ढाय गिरने से जहां 3 बच्चों की हादसे में मौत हो गई तो वहीं पांच बच्चे गंभीर रूप से घायल भी हो गए.
मिट्टी की ढाय गिरने से जहां 3 बच्चों की हादसे में मौत हो गई तो वहीं पांच बच्चे गंभीर रूप से घायल भी हो गए.

आगरा:आगरा के सिकंदरा में बीते दिन एक बड़ा हादसा हो गया. दरअसल सिकंदरा के रुनकता गांव में गुरुवार की दोपहर करीब साढ़े तीन बजे मिट्टी की ढाय ढह गई, जिसमें वहां खेल रहे बच्चे भी बुरी तरह दब गए. मिट्टी की ढाय गिरने से जहां 3 बच्चों की हादसे में मौत हो गई तो वहीं पांच बच्चे गंभीर रूप से घायल भी हो गए. बताया जा रहा है कि बच्चे करीब चार दिन पहले खोदे गए तालाब के लिए 15 फुट गहरे गड्ढे में खेल रहे थे.

मिट्टी की ढाय गिरने से बच्चे बुरी तरह उसमें गिर गए, जिसके बाद उन्हें जेसीबी की मदद से खोदाई कर निकाला गया. इस मामले को लेकर ग्रामीणों में भी काफी गुस्सा देखने को मिला और उन्होंने ग्राम प्रधान माया देवी पर तालाब क खोदाई में लापरवाही बरतने का भी आरोप लगाया. इतना ही नहीं, गुस्साए ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राजमार्ग-2 को भी जाम करने की कोशिश की. वहीं, जब पुलिस द्वारा ग्रामीणों को ऐसा करने से रोका गया तो उन्होंने चौकी का भी घेराव कर दिया.

आगरा: इंडियन ओवरसीज बैंक डकैती में फरार आरोपी नरेंद्र पुलिस मुठभेड़ में अरेस्ट

घटना के बारे में बात करते हुए सिकंदरा के थाना प्रभारी निरीक्षक अरविंद कुमार ने बताया कि मृतकों में तीन साल की नैना, सात साल की मैडुकी और दस साल का दक्ष शामिल है. तो वहीं, घायल बच्चों में 10 साल की टैंटी, 13 साल का अंकित, 9 साल का अंश, 9 साल का पीयूष और 9 साल का ही अंशू शामिल है. घायलों बच्चों को आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज, नयति हॉस्पिटल और प्रभा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है.

बताया जा रहा है कि ढाय गिरने के बाद 100 से ज्यादा लोग उन्हें बचाने के लिए दौड़ पड़े, जिसमें महिलाएं भी शामिल थीं. किसी ने हाथ से मिट्टी खोदने की कोशिश की तो किसी ने फावड़े की मदद से उसे हटाया. बच्चों को बाहर निकालते ही परिजन उन्हें अस्पताल लेकर भागे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें