CM योगी ने किया ऐलान, शहीद दारोगा प्रशांत कुमार के परिवार को दिए जाएंगे 50 लाख

Smart News Team, Last updated: Thu, 25th Mar 2021, 9:30 AM IST
  • बुधवार को आगरा में खंदौली थाना के दारोगा प्रशांत कुमार यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद दारोगा के परिवार को आर्थिक सहायता के रूप में 50 लाख रुपये देने की घोषणा की है.
सीएम योगी ने किया ऐलान, शहीद दारोगा प्रशांत कुमार के परिवार को दिए जाएंगे 50 लाख रुपये 

आगरा. बुधवार देर शाम को आगरा में 35 वर्षीय दारोगा प्रशांत कुमार यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई. दारोगा प्रशांत कुमार बुधवार को खंदौली थाना के नहर्रा गांव में दो भाइयों के विवाद की सूचना पाकर कांस्टेबल के साथ पहुंचे थे. जहां दो भाइयों के बीच आलू खुदाई को लेकर विवाद चल रहा था. जिनमें से एक भाई ने तमंचा निकालकर दारोगा पर गोली चला दी. जिससे उनकी मौत हो गयी. इस घटना पर गहन दुख जताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद दारोगा के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.

इस संबंध में आगरा के जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने जानकारी दी है कि शासन स्तर से शहीद दारोगा के परिवार को आर्थिक मदद देने की घोषणा हो चुकी है. जिसमें उनके परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की गई है. इसके साथ ही शहीद दारोगा के नाम पर जिले की एक सड़क का नामकरण करने को भी कहा गया है. पुलिस के अनुसार प्रशांत कुमार यादव 2015 बैच के दारोगा थे. जो बुलंदशहर के छतारी गांव के निवासी थे. लेकिन वर्तमान में परिवार के साथ आगरा में रह रहे थे.

सावधान ! एक फोन कॉल लगा जाएगा लाखों का चूना, जानें पूरा माजरा

इस घटना के बारे में पुलिस ने बताया है कि बुधवार को नहर्रा गांव के दो भाई शिवनाथ और विश्वनाथ के बीच आलू खुदाई को लेकर विवाद चल रहा था. इस बात की जानकारी पाकर वहां दारोगा प्रशांत एवं सिपाही चंद्रसेन खंदौली थाने से पहुंचे. जहां विश्वनाथ तमंचा दिखाकर मजदूरों को धमकाने की कोशिश कर रहा था.

आगरा में दो भाइयों के बीच विवाद सुलझाने गए दारोगा की गोली मारकर हत्या, हड़कंप

पुलिस को देखकर विश्वनाथ खेत की तरफ भागने लगा. तभी दारोगा ने उसका पीछा करके दबोचने की कोशिश की. दारोगा को पीछा करते देख उसने तमंचे से गोली चला दी. जो दारोगा के गर्दन में लग गई. जिससे घटनास्थल पर अफरा-तफरी मच गई. घायल अवस्था में दारोगा को अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित किया.

यूपी पंचायत चुनाव: 30 अप्रैल तक मतदान की तैयारी, क्या देरी से होंगी बोर्ड परिक्षाएं

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें