पुलिस कस्टडी में मारे गए सफाईकर्मी अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिलने आगरा पहुंचीं प्रियंका गांधी

Shubham Bajpai, Last updated: Thu, 21st Oct 2021, 12:30 AM IST
  • पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी अरुण वाल्मीकि की मौत हो गई थी.  मृतक अरुण के परिवार से मिलने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आगरा पहुंच गई हैं. प्रियंका का काफिला फतेहाबाद टोल पार करते हुए अरुण के घर की ओर बढ़ रहा है. इससे पहले प्रशासन ने प्रियंका को आगरा जाने से रोकने के लिए हिरासत में ले लिया था.
पुलिस कस्टडी में मारे गए सफाईकर्मी अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिलने आगरा पहुंचीं प्रियंका गांधी

आगरा. सफाईकर्मी अरुण वाल्मीकि की आगरा पुलिस की कस्टडी में मौत हो गई थी. जिसके बाद से इस मामले में सियासत गरमा गई. इसी बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी मृतक अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मुलाकात की.  परिजनों से मिलने के बाद प्रियंका ने कहा कि प्रदेश सरकार को लगता है कि 10 लाख रुपये देकर न्याय से वंचित कर देगी, परिवार को न्याय चाहिए. 

प्रियंका बोलीं, परिजनों ने बताया पुलिस समुदाय के 17 लोगों को ले गई थाने

अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिलने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिला। मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि इस समय में किसी के साथ भी ऐसा हो सकता है. अरुण के परिजनों ने मुझे बताया है कि वाल्मीकि समुदाय के 17-18 लोगों को अलग-अलग जगहों से उठाकर थाने ले जाया गया. प्रदेश सरकार को लगता है कि 10 लाख रुपये देकर न्याय से वंचित कर देगी, परिवार को न्याय चाहिए, उनके घर में सारा सामान तोड़ दिया गया है. अलमारी और पलंग तोड़े गए हैं, यह किस तरह का देश बना रहे हैं।

आगरा पुलिस कस्टडी मौत: मृतक अरुण के परिजनों से मिलने जा रही प्रियंका को पुलिस ने रोका

बता दें कि प्रियंका गांधी दोपहर में लखनऊ से आगरा के लिए निकल गई थीं. इस दौरान आगरा-एक्सप्रेस वे पर प्रशासन ने उन्हें रोक दिया था. प्रियंका को रोके जाने के बाद कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया. जिसके बाद पुलिस ने प्रियंका को हिरासत में ले लिया. वहीं, आगरा जाने की मांग पर अड़ी प्रियंका को प्रशासन ने शाम 5 बजे चार लोगों के साथ जाने की अनुमति दे दी.

धारा 144 कहकर रोका, अंतिम संस्कार के बाद दी जाने की अनुमति

प्रियंका को प्रशासन ने रोक आगरा में धारा 144 लागू होने की बात कही. जिस पर प्रियंका ने ऑर्डर मांगे. एडीसीपी ने मोबाइल पर ही आगरा डीएम के 144 से जुडे़ आदेश दिखा दिए. जिसके बाद भी प्रियंका आगरा जाने की मांग पर अड़ी रहीं. इस दौरान करीब 3 घंटे तक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़क पर बैठ जमकर नारेबाजी की और धरना प्रदर्शन किया. इस दौरान अरुण के अंतिम संस्कार के बाद शाम 5 बजे प्रशासन ने 4 लोगों के साथ प्रियंका को आगरा जाने की अनुमति दे दी.

आगरा जाते समय प्रियंका गांधी ने बीच रास्ते में घायल युवती को दिया फर्स्ट एड

किस बात का है यूपी सरकार को डर

इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्विटर किया कि अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई. उनका परिवार न्याय मांग रहा है. मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं. यूपी सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है. आज भगवान वाल्मीकि जयंती है, पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं.

 

बता दें कि जगदीशपुर थाने में मालखाने से 25 लाख रुपये चुराने के आरोप ने पुलिस ने अरुण वाल्मीकि को गिरफ्तार कर लिया था. जिसकी पुलिस कस्टडी के दौरान मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि अरुण की मौत पुलिस की पिटाई से हुई. वहीं, प्रदेश सरकार न मृतक अरुण के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की बात कही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें