आगरा

कोरोना के खिलाफ मजबूती से लड़ रहा आगरा, हर दिन हो रहीं 900 से अधिक जांच

Smart News Team, Last updated: 07/06/2020 03:32 PM IST
  • कोरोना कीजांच में आश्चर्यजनक बढ़ोतरी हुई है, जिससे अब हर दिन करीब 900 से अधिक लोगों की कोविड-19 जांच की जा रही है। एसएन मेडिकल कॉलेज की माइक्रो बायोलाजी लैब ने 11 हजार जाचों का आंकड़ा पार कर लिया है।
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना वायरस का कहर आगरा में थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। जिले में कोरोना के हर दिन मरीज आ रहे हैं। हालांकि, अच्छी बात ये है कि जिले में कोरोना के जांच की रफ्तार भी तेज हुई है। कोविड-19 से लड़ाई में आगरा ने लंबी छलांग लगाई है। कोरोना कीजांच में आश्चर्यजनक बढ़ोतरी हुई है, जिससे अब हर दिन करीब 900 से अधिक लोगों की कोविड-19 जांच की जा रही है। एसएन मेडिकल कॉलेज की माइक्रो बायोलाजी लैब ने 11 हजार जाचों का आंकड़ा पार कर लिया है। वहीं, जालमा ने भी क्षमता बढ़ा दी है। इतना ही नहीं, आगरा में अब पास के जिलों के सैंपले भी जांचे जा रहे हैं।

पहले लखनऊ पर थी जिले की निर्भरता

दरअस, आगरा में कोरोना वायरस के मामले में लगातार तेजी के बाद हर रोज औसतन 300 के आसपास नमूने लिए जा रहे थे। इनकी जांच केजीएमयू लखनऊ में कराई जा रही थी। मगर बाद में आगरा शासन ने एसएनएमसी को जांच की अनुमति दी थी। यहां दो आर्टी पीसीआर मशीनें भी भेजी गईं। इसी तरह जालमा कुष्ठ रोग और माइक्रो बैक्टीरियल संस्थान में भी आर्टी पीसीआर मशीन लगाई गई। दोनों स्थानों पर जांच के बाद लखनऊ पर आगरा की निर्भरता खत्म हो गई। 

एसएन में 500 तो जालमा में 400 जांच

अब सभी जांच यहीं की जा रही हैं। एसएनएमसी में अब प्रतिदिन जांच का औसत 500 को पार कर चुका है। जबकि जालमा संस्थान में 400 के आसपास जांच हो रही हैं। आने वाले दिनों में यहां 700 जांच प्रतिदिन करने की तैयारी है। एसएनएमसी में शनिवार दोपहर तक 11129 जांच हो चुकी हैं। जबकि जालमा में यह आंकड़ा तीन हजार पहुंच गया था। वहीं जिला अस्पताल में अभी तक लिए गए नमूनों की संख्या 14531 हो चुकी है। यानि इतने नमूने यहां से जांच के लिए भेजे जा चुके हैं।

इन जिलों के नमूनों की भी जांच कर रहा आगरा

आगरा में तीन करीबी जिलों से भी नमूने मंगाए जा रहे हैं। इनमें हाथरस, मथुरा और फिरोजाबाद शामिल हैं। इनके नमूने एसएनएमसी की माइक्रो बायोलाजी लैब और जालमा इंस्टीट्यूट भेजे जा रहे हैं। यहां से सबंधित जिलों में स्वास्थ्य विभाग के पास रिपोर्ट भेजी जा रही है।

जिला अस्पताल में ट्रू-नेट मशीन

जिला अस्पताल में भी अब जांच शुरू होने वाली है। शासन ने यहां ट्रू-नेट मशीन भेजी है। इसका इंस्सटालेशन होने वाला है। तकनीशियनों को जूम से प्रशिक्षण मिल चुका है। इस मशीन से 5 से 10 लोगों की जांच एक घंटे में हो सकेगी। आपरेशन या सर्जरी की जरूरत वाले गंभीर मरीजों के नमूने जल्द मिल सकेंगे। ऐसा होने पर डाक्टर बेखौफ होकर मरीजों का इलाज कर पाएंगे।

एक निजी लैब में भी हो रही जांच

आगरा में एसआरएल लैब में जांच की जा रही है। इसमें निजी अस्पतालों के अलावा सीधे भी लोग जांच कराने के लिए पहुंचते हैं। जांच के लिए ‌रोज 50 नमूने लिए जाते हैं। इससे पहले एक अन्य लैब द्वारा भी नमूने लेकर जांच की जा रही थी। उसकी रिपोर्ट में गडबड़ी मिलने पर जिलाधिकारी के निर्दे पर उसे बंद करा दिया गया था।

अन्य खबरें