ताजमहल पर पड़ा कोरोना का असर, 4 लाख सैलानी आए कम

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 06:07 PM IST
  • ताजमहल में पिछले साल के मुकाबले करीब 4 लाख सैलानी कम आए हैं, जिससे न केवल ताजमहल पर कोरोना की मार पड़ी है, बल्कि यहां मौजूद लोगों की अजीविका पर भी इसका काफी असर पड़ा है.
फाइल फोटो

आगरा: आगरा में इस बार कोरोना वायरस के कारण ताजमहल देखने आने वाले सैलानियों की संख्या सीमित कर दी गई थी. एक दिन में ताजमहल देखने के लिए केवल 5000 सैलानियों को ही परिसर में एंट्री दी जा रही थी. ऐसे में इस बार ताजमहल में पिछले साल के मुकाबले करीब 4 लाख सैलानी कम आए हैं, जिससे न केवल ताजमहल पर कोरोना की मार पड़ी है, बल्कि यहां मौजूद लोगों की अजीविका पर भी इसका काफी असर पड़ा है.

बताया जा रहा है कि आगरा में साल 2019 के नवंबर माह में करीब 5,09,651 सैलानी ताजमहल देखने आए थे. इसमें से 4,12,470 पर्यटक भारतीय और 97181 पर्यटक विदेशी थे. वहीं, इस बार केवल 95 हजार पर्यटक ही नंबर में ताजमहल का दीदार करने आए हैं. सैलानियों की कम संख्या के कारण यहां लाखों लोगों की जीविका पर भी काफई असर पड़ा है. रिपोर्ट के अनुसार शहर के करीब 4 लाख लोगों की अजीविका ताजमहल से जुड़ी हुई है.

ताजनगरी में हवा फिर हुई जहरीली, एक्यूआई पहुंचा 270 के पार

बताया जा रहा है कि अगर यहां कैंपिंग जारी रहती है तो करीब तीन लाख से ज्यादा लोगों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो जाएगा. ताजमहल देखने आए विदेशी पर्यटक रोजगार के बड़े स्त्रोत होते हैं. लेकिन कोरोना वायरस के कारण अब केवल भारतीय पर्यटक ही यहां आरहे हैं. इस मामले को लेकर आगरा टूरिस्ट डेवलपमेंट फाउंडेशन के अध्यक्ष संदीप अरोड़ा ने कहा इस स्थिति के कारण अब लोगों को दूसरा कामकाज तलाशना होगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें