आगरा की रुपा ने कहा-वैक्सीन लगवाने से पहले बहुत घबराहट थी पर अब सुरक्षित हूं

Smart News Team, Last updated: Fri, 22nd Jan 2021, 4:35 PM IST
  • केन्द्र पर तैनात रूपा सिंह हेल्प डेस्क पर अपना पहचान पत्र दिखाने के बाद लाइन में लगी थी. रूपा के चेहरे पर उदासी थी. वह थोड़ी घबराई हुई थी. उनके मन में कई सवाल चल रहे थे. इस सबके बावजूद वह हिम्मत करके रूम में इंट्री कर गई. वैक्सीन लगने बाद रूपा का चेहरा हंसी से खिल उठा. वैक्सीन लगने के तकरीबन आधे घंटे बाद वह अपने घर गई
(प्रतिकात्मक फोटो)

आगरा- केन्द्र पर तैनात रूपा सिंह हेल्प डेस्क पर अपना पहचान पत्र दिखाने के बाद लाइन में लगी थी. रूपा के चेहरे पर उदासी थी. वह थोड़ी घबराई हुई थी. उनके मन में कई सवाल चल रहे थे. इस सबके बीच बावजूद वह हिम्मत करके रूम में इंट्री कर गई. वैक्सीन लगने बाद रूपा का चेहरा हंसी से खिल उठा. वैक्सीन लगने के तकरीबन आधे घंटे बाद वह अपने घर गई.

आगरा समेत देश के कई स्थानों पर कोरोना का वैक्सीन लगाया जा रहा है. इस वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में कई तरह की असुरक्षा की भावना थी. कुछ ऐसा ही डर रूपा के मन में था. बताते चलें कि शहर के एत्मादपुर में लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया. तड़के सुबह से ही घने कोहरे के बीच लगातार डॉक्टर्स की गाड़िया आ रही थीं. कर्मचारी वैक्सीनेशन की तैयारियों में जुटे थे. साथ ही इस दौरान ऑब्जर्वेशन रूम में कुर्सियों के अलावा एएफआई रूम में बेड लगाए जा रहे थे.

GRP ने 20 दिन में ढूंढ निकाले 100 बच्चे, बालगृह और स्टेशनों पर रहते थे बच्चे

तकरीबन साढ़े 10 बजे फ्रीजर से वैक्सीन को निकाल कर लाया गया. हेल्प डेस्क से कार्ड बनाने के बाद एक-एक कर लोग वैक्सीनेशन के लिए अंदर गए. मिली जानकारी के मुताबिक साढ़े 12 बजे तक 36 लोगों को वैक्सीन लगाया गया. वैक्सीनेशन के बाद रूपा ने बताया कि वह पहले काफी घबराई हुई थी. लेकिन अब वैक्सीनेशन के बाद वह वायरस से सुरक्षित है.

दवाओं के अवैध धंधे के लिए घर और कॉलेज को बना लिया गोदाम, औषधि विभाग ने मारा छापा

आगरा न्यूज बुलेटिन : कोर्ट में खुली इंस्पेक्टर की करतूत, निर्दोष भेजे जेल

आगरा में बदमाशों ने लूटी सरियों से भरी ट्रक, पुलिस की टीमें नहीं लगा पाईं पता

आगरा: अकोला में व्यापारी से हुई मारपीट, गुस्साए लोगों ने बाजार बंद कर किया धरना

आगरा जेल में फोन पर नियमों की बंदिश हुई सख्त, हर कॉल का रखा जाएगा रिकॉर्ड

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें