आगरा

ऐसे कैसे खत्म होगा कोरोना? राशन लेने के लिए उड़ीं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

Smart News Team, Last updated: 02/06/2020 09:08 PM IST
  • कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है, मगर तब भी लोग सावधानी बरतने में कोताही कर रहे हैं। लॉकडाउन की बंदिशों में रियायत के बाद पहली बार बांटे गए राशन के दौरान सोशल डिस्टेसिंग की जमकर धज्जियां उड़ीं।
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है, मगर तब भी लोग सावधानी बरतने में कोताही कर रहे हैं। लॉकडाउन की बंदिशों में रियायत के बाद पहली बार बांटे गए राशन के दौरान सोशल डिस्टेसिंग की जमकर धज्जियां उड़ीं। आगरा में राशन के लिए लोग एक- दूसरे पर लदे दिखे। न प्रशासन और न ही दुकानों पर लॉकडाउन के मद्देनजर सावधानी बरती गई। हालांकि कुछ दुकानों पर जरूर नियमों का पालन होता नजर आया।

दरअसल, 7.02 लाख कार्डधारकों को गेहूं, चावल व चना देने के लिए सुबह 6 बजे से राशन डीलरों ने वितरण शुरू किया। सुबह के समय ई-पॉज मशीनों के धीमी गति से चलने से कई जगह कार्डधारकों को राशन के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। कुछ जगह मशीन ने धोखा दे दिया तो वहां भी घंटों लाइन लगी रही। पहले दिन 70 हजार से अधिक कार्डधारकों को राशन मिल गया था।

सुबह से ही लंबी लाइनें लग गई थीं

काम-धंधे बंद होने की वजह से गरीब लोग पूरी तरह सरकारी खाद्यान्न पर ही निर्भर हैं। जून माह का राशन लेने के लिए सोमवार को सुबह से ही लंबी लाइनें लग गई थीं। लोग वितरण के पहले ही दिन खाद्यान्न लेने के लिए टूट पड़े थे। सबको जल्द से जल्द राशन चाहिए था। परंतु शहर में अधिकांश जगह सुबह के समय मशीन ने पूरा साथ नहीं दिया।

कहीं अंगूठा नहीं पहचान रही थी मशीन तो कहीं बंद हो गई

मशीन काफी धीमी चल रही थी। इसके चलते कार्डधारक को राशन मिलने में विलंब हो रहा था। मशीन कभी किसी का अंगूठा नहीं पहचान रही थी तो कहीं मशीन बार-बार बंद हो रही थी। इस वजह से काफी देर तक वितरण प्रभावित रहा। दोपहर होते-होते मशीन ने पूरी ताकत से काम करना शुरू किया तो शाम तक जनपद में 70 हजार से अधिक कार्डधारक राशन घर ले गए।

प्रवासी मजदूरों को मिला मुफ्त राशन

सरकार के निर्देश पर आगरा जनपद में आए प्रवासी मजूदरों को सोमवार से मुफ्त राशन मिला। प्रति यूनिट तीन किलो गेहूं व दो किलो चावल के साथ ही एक किलो चना भी उन्हें मिला। इसके अलावा पंजीकृत दिहाड़ी मजदूरों और अंत्योदय कार्डधारकों को भी लॉकडाउन में मुफ्त राशन मिला।

जिला पूर्ति अधिकारी उमेश चंद्र मिश्र ने कहा कि सुबह के समय मशीन थोड़ा स्लो चल रही थीं। यह सर्वर पर अधिक लोड के चलते हुआ। शाम तक 70 हजार कार्डों पर राशन बंट चुका था। मंगलवार को भी सुबह 6 बजे से वितरण शुरू होगा।

अन्य खबरें