डकैती के बाद चाट-पकौड़ी और ऑटो चलाकर पुलिस को गुमराह करने का था बदमाशों का प्लान

Smart News Team, Last updated: Mon, 11th Jan 2021, 9:51 AM IST
  • आगरा पुलिस ने शुक्रवार को ऐसे गिरोह को दबोचा है जो डकैती के बाद कहां जाकर क्या काम करना है उसकी प्लानिंग बना रहा था. वारदात के बाद दो बदमाश तो दिल्ली जाकर चाट की दुकान लगाने वाले थे.
डकैती के बाद दिल्ली जाकर चाट पकौड़ी बेचने की बदमाशों की योजना

आगरा. ताजनगरी के कमला नगर में डकैती करने आए बदमाशों की प्लानिंग सुनकर पुलिस भी दंग रह गई. डकैती या लूट के लिए बदमाश आमतौर पर प्लानिंग करते हैं कि कहां किस जगह उन्हें वारदात को अंजाम देना है लेकिन आगरा पुलिस ने ऐसे गिरोह को दबोचा है जिसने पहले से ये योजना बनाई थी कि उन्हें वारदात के बाद कहां जाना है. पुलिस के बचने के लिए क्या करना है. दो बदमाशों ने दिल्ली जाकर चाट-पकौड़ी बेचने की योजना बनाई थी.

आगरा पुलिस की संयुक्त टीम ने शुक्रवार की रात सात बदमाशों को पकड़ा था. मुठभेड़ के दौरान दो बदमाशों को गोली भी लगी थी. बदमाशों का गैंग कमला नगर में डकैती के लिए आया था. पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होनें अपने नाम बताए.  

यूपी में एक लाख से ज्यादा सरकारी नौकरियों के पद खाली, इस साल होंगी भर्तियां

एसएसपी बबलू कुमार ने कहा कि बदमाशों से गहराई से पूछताछ की गई है. एक बदमाश 2013 में डकैती और हत्या के मामले में जेल जा चुका है. जमानत पर छूटने के बाद वह दिल्ली चला गया था. 

शातिर बदमाश ने अपने गैंग के लोगों से कहा था कि घटना के समय किसी के पास भी मोबाइल फोन नहीं होना चाहिए. घटना के दौरान एक दूसरे को फर्जी नाम या कोड वर्ड से बुलाएंगे. इसी के साथ भाषा बदलकर बात करेंगे. इसी के साथ सभी लोग घटना के बाद सभी लोग अपने-अपने रास्ते जाएंगे. कोई किसी से संपर्क नहीं करेगा. 

UP में घर के लिए 2 और दुकान का 6 महीने का एडवांस किराया देना होगा, जानें डिटेल्स

वहीं घटना के बाद क्या काम किसको करना है ये पहले से ही तय कर लिया गया था. एक बदमाश पहले से ही ऑटो चलाने का काम करता था और डकैती से लौटने के बाद भी उसे यही काम करना था. एक बदमाश को दूध बेचने का तो दूसरे को दिल्ली में चाट-पकौड़ी की दुकान लगानी थी. इसी तरह सात बदमाशों को अलग-अलग काम करने थे जिससे किसी का उनपर शक ना जाए. 

बर्ड फ्लू से बेकरी कारोबार का बड़ा नुकसान, एक सप्ताह में मचा हाहाकार 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें