आगरा

दहेज के लिए भाभी की जिंदा जलाकर हत्या, 9 साल से फरार MA पास ननद गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 12/07/2020 12:05 PM IST
  • लालकुर्ती में दहेज की वजह से भाभी की हत्या के मामले में नौ साल से फरार ननद को सदर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है। ननद घटना के बाद से ही फरार चल रही थी।
प्रतीकात्मक तस्वीर

आगरा में दहेज की वजह से विवाहिता को जिंदा जलाकर मारने के मामले में पुलिस को एक और कामयाबी हाथ लगी है। लालकुर्ती में दहेज की वजह से भाभी की हत्या के मामले में नौ साल से फरार ननद को सदर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है। ननद घटना के बाद से ही फरार चल रही थी। इस दौरान वह मथुरा और आगरा में किराए के घरों में रही। पुलिस ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था।

सिपाही पत्नी को दारोगा संग रंगे हाथ पकड़ा था सिपाही पति, अब जानें क्या हुआ अंजाम

एसएसपी बबलू कुमार ने कहा कि ग्यासपुर निवासी रामेश्वर ने अपनी बेटी पूजा की शादी सदर थाना के लालकुर्ती में की थी। साल 2011 में ससुराल वालों ने पूजा को ज्वलनशील पदार्थ डाल कर आग लगा दी थी, जिससे पूजा की मौत हो गई थी। पूजा के पिता ने पति, सास, ससुर और दो नदद के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने उस समय पति, सास, ससुर और एक ननद को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था।

भाभी की हत्या के मामले में ननद रूबी तभी से फरार थी। पुलिस की ओर से रूबी पर 25 हजार रुपये की इनाम घोषित किया गया था। शनिवार को पुलिस को सूचना मिली कि रूबी खंदारी क्षेत्र में किराए के मकान में रह रही है। पुलिस ने दबिश देकर रूबी को गिरफ्तार किया है।

कोरोना इफेक्ट: लॉकडाउन में पतियों ने कर ली दूसरी शादी, पत्नियां कर रहीं इंतजार..

सदर थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार ने बताया कि रूबी नौ साल से फरार थी। पूछताछ में रूबी ने बताया कि वह काफी समय तक मथुरा में किराए का मकान लेकर रही। वहीं कुछ न कुछ पढ़ाई करती रही। इसके बाद वापस आगरा आ गई। आगरा में कई स्थानों पर वह किराए के मकानों में रही। इसी दौरान उसने अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई भी पूरी कर ली है। वह एमए पास कर चुकी है।

अन्य खबरें