टीपू सुल्तान वाले संजय खान की कंपनी OUT, अब आगरा थीम पार्क में दिखेगा त्रेता और द्वापर युग

Smart News Team, Last updated: Wed, 4th Aug 2021, 8:06 AM IST
  • आगरा के थीम पार्क प्रोजेक्ट को बनाने का सपना अभिनेत्रा सजय खान की कंपनी ने देखा था, लेकिन यूपीसीडा के करार खत्म होने के बाद उनका यह सपना अधूरा रह गया. नए कंसल्टेंट फर्म को खासतौर पर निर्देश दिए गए है कि औद्योगिक थीम पार्क में महाभारत के द्वापर और रामायण के त्रेता युग के दर्शन जरूर होने चाहिए. थीम पार्क को यमुना एक्सप्रेसवे के नजदीक बनाया जाएगा.
आगरा के थीम पार्क प्रोजेक्ट में होंगे द्वापर और त्रेता युग के दर्शन.( सांकेतिक फोटो )

आगरा: फिल्म अभिनेता एवं निर्देशक संजय खान ने उत्तर प्रदेश के आगरा में थीम पार्क बनाने का ख्वाब देखा था, लेकिन संजय खान की कंपनी से करार खत्म करने के बाद यूपी सरकार अब थीम पार्क प्रोजेक्ट को नया आयाम देने जा रही है. उप्र राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) ने थीम पार्क की डिजाइन तैयार करने के लिए कंसल्टेंट फर्म की नियुक्ति कर दी है. इस परियोजना में आपको त्रेता और द्वापर युग का समावेश दिखने को मिलेगा. यूपीसीडा ने कंसल्टेंट कंपनी को साफ तौर पर निर्देश दिए हैं कि इस औद्योगिक थीम पार्क में महाभारत और रामायण के दर्शन जरूर होने चाहिए. साथ ही इसमें द्वापर के भगवान श्रीकृष्ण की रास लीला और त्रेता में भगवान राम का युग और उनके आदर्श को दिखाया जाए.

आगरा में बनने वाले थीम पार्क प्रोजेक्ट को इंटीग्रेटेड मैन्यूफैक्चरिंग क्लस्टर के रूप में विकसित किया जाएगा. इस थीम पार्क को सैलानियों को ध्यान में रखकर बनाया जाएगा. फर्म को दिए गए निर्देश में कहा है, इस थीम पार्क को ऐसे डिजाइन किया जाना चाहिए कि अंदर प्रवेश करने वाले चौंके बिना न रह सकें. उनके निगाहें जिधर देखें अपलक निहारते रहें. इस चित्रकारी से सैलानी अपने आप को द्वापर और त्रेता युग की झलक दिखनी चाहिए. थीम पार्क परियोजना को एक्सप्रेस-वे के नजदीक विकसित किया जाएगा.

CM योगी का तंज, कहा- पिछली सरकार में बोर्ड और आयोग भ्रष्टाचार व भाई-भतीजा वाद का अड्डा बन गए थे

उप्र राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) के मुख्य कार्यपालक मयूर माहेश्वरी ने कहा, कि आगरा थीम पार्क में इंटीग्रेटेड मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर स्थापित करने की योजना तैयार कर ली गई है. अब कंलस्टेंट द्वारा डिजाइन तैयार होते कार्ययोजना पर अमल शुरू हो जाएगा. यह परियोजना प्रदेश में अलग तरह की होगी. मुख्यमंत्री के निर्देश पर इसकी खास डिजाइन तैयार की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें