चेक बाउंस मामले में पूर्व विधायक जगन प्रसाद गर्ग के बेटे अदालत में तलब

Deepakshi Sharma, Last updated: Fri, 17th Sep 2021, 2:02 PM IST
  • चेक बाउंस होने के आरोप में पूर्व विधायक स्वर्गीय जगन प्रसाद गर्ग के बेटे कोर्ट में तलब किए गए हैं. 3 अक्टूबर को उनकी कोर्ट में पेशी है. मामला 10 लाख रूपये के चेक से जुड़ा है.
चेक बाउंस होने पर पूर्व विधायक जगन प्रसाद गर्ग के बेटे अदालत में तलब

आगरा. आगरा का एक ऐसा मामला फिर से लोगों के बीच सामने आया है, जिसने हर किसी को हैरानी में डाल दिया था. आगरा में चेक डिसऑनर होने के आरोप में पूर्व विधायक स्वर्गीय जगन प्रसाद गर्ग के बेटे कोर्ट में तलब किए गए है. कोर्ट ने 3 दिसंबर को उन्हें तलब किया है. शांति निकेतन खंदारी के रहने वाले पूनम कुलश्रेष्ठ का ये आरोप है कि पति नवीन कुलश्रेष्ठ की विधायक स्वर्गीय जगन प्रसाद गर्ग से अच्छी जान-पहचान थी. मैसर्स नीरज डेयरी के लिए जरूरत बताते हुए उनसे 10 लाख रुपये उधार लिए गए थे.

25 अगस्त 2019 को इसके लिए देना बैंक, दिल्ली गेट का चेक दिया गया था. इस पर जगन प्रसाद गर्ग ने साइन किया था और फर्म की मुहर तक लगाई थी. जब इस चेक को पूनम ने ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स जयपुर हाउस में दिया तो वो चेक डिसऑनर हो गया. इसके बाद जगन प्रसाद गर्ग का निधन हो गया. ऐसे में अब 10 लाख रुपये का चेक डिसऑर्नर के आरोप में जगन प्रसाद गर्ग के बेटे वैभव गर्ग और सौरभ गर्ग को तीन दिसंबर को तलब किया गया है.

आगरा के ताजगंज में बेरिगेटिंग पर VIP कल्चर का विरोध, कांग्रेस का प्रदर्शन

मेट्रो में नौकरी दिलाने वाले आरोपी की जमानत खारिज

वही, दूसरी ओर मेट्रो रेल में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले आरोपी को अदालत से जमानत नहीं मिल पाई है. अपर जिला जज महेंद्र कुमार ने आरोपी प्रवीना चौधीर के जमानत प्रार्थना पत्र को खारिज करने का आदेश तक दिए. सदर इलाके के रहने वाले सुंधांश साहनी ने 10 अगस्त के दिन सदर थाने में नौकरी के नाम पर धोखाधड़ी होने को लेकर केस दर्ज कराया था. उन्होंने दिल्ली और यूपी मेट्रो में नौकरी के लिए ऑनलाइन एक वेबसाइट के जरिए आवेदन किया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें