जाली नोटों की बड़ी खेप यमुना एक्सप्रेस-वे से हुई बरामद, तस्कर गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 09:13 AM IST
यमुना एक्सप्रेस-वे से आगरा की ओर जा रहे दो अंतरराष्ट्रीय तस्करों को यूपी पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने गिरफ्तार किया. ये दोनों ही शहर में अपने नए एजेंट बनाने के लिए जा रहे थे जिससे ये लोग आसपास के शहरों में भी दस्तक दे सके. साथ ही अपनी गतिविधियों को अंजाम तक पहुंचा सके. दोनों के कब्जे से बड़ी मात्रा में जाली नोट मिले हैं. अभियुक्तों ने बताया कि इनके पीछे एक बड़ा गिरोह कार्य कर रहा है
(प्रतिकात्मक फोटो)

आगरा: यमुना एक्सप्रेस-वे से आगरा की ओर जा रहे दो अंतरराष्ट्रीय तस्करों को यूपी पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने गिरफ्तार किया. ये दोनों ही शहर में अपने नए एजेंट बनाने के लिए जा रहे थे जिससे ये लोग आसपास के शहरों में भी दस्तक दे सके. साथ ही अपनी गतिविधियों को अंजाम तक पहुंचा सके. दोनों के कब्जे से बड़ी मात्रा में जाली नोट मिले हैं. अभियुक्तों ने बताया कि इनके पीछे एक बड़ा गिरोह कार्य कर रहा है.

FIR के बाद मथुरा की नंदबाबा मंदिर में नमाज अदा करने वाला फैजल दिल्ली से गिरफ्तार

दोनों के पास से 5.97 लाख रुपये की अच्छी क्वालिटी वाले जाली भारतीय मुद्रा बरामद हुई. इसी क्रम में जांच में 500 रुपये के कुल 11494 नोट, एक हुंडई आई-10 कार, छह स्मार्ट मोबाइल फोन, एक आधार कार्ड, एक ड्राइविंग लाइसेंस, एक वोटर कार्ड और दो डेबिट कार्ड बरामद हुए हैं. गिरफ्तार हुए दोनों अभियुक्तों ने बताया कि वे मालदा (पश्चिम बंगाल) से यह जाली मुद्रा लेकर आ रहे थे. उन्हें यह खेप मालदा में बांग्लादेश से स्पलाई हो रही थी.

ताजमहल के टिकट की कालाबाजारी कर रहा युवक गिरफ्तार, सीमित संख्या का उठाया फायदा

पकड़े गए दोनों आरोपियों यानी तहसीन और मोहम्द वसीम को लखनऊ ले जाया गया. जहां दोनों के विरुद्ध नगर के एटीएस थाने में आईपीसी की धारा 489सी, 489सी और 120बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में पता चला कि तहसीन बुलंदशहर जिले के गुलावटी थाना क्षेत्र स्थित महमदाबाद गांव का निवासी है जबकि वसीम मूल रूप से बिहार के सीतामढ़ी जिले के नानपुर थाना क्षेत्र स्थित फैजपुर गांव का निवासी है.

आगरा: ताज महल और आगरा किले को पर्यटकों की भीड़, लिमिट पूरी होने पर कई लौटे मायूस

इस पूरे मामले पर एटीएस के एडीजी डीके ठाकुर ने बताया कि दोनों को कोर्ट में पेश कर पुलिस कस्टडी में लिया जाएगा. पहले से ही एटीएस को इस बात की खुफिया जानकारी मिल चुकी थी कि मालदा से भारी मात्रा में तस्करी यूपी और एनसीआर की ओर जा रहे हैं. अंतिम पूछताछ में वसीम ने बताया कि वो वर्तमान में दिल्ली के द्वारका थाना क्षेत्र स्थित द्वारका मोड़ के निकट मकान नंबर 12-13 में रह रहा था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें