पुलवामा में शहीद स्मारक के निर्माण में जुटा परिवार, शासन से नहीं मिली कोई मदद

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 09:06 PM IST
  • पुलवामा हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवान रामवकील के स्मारक के निर्माण लिए परिवार ने एकजुट होकर काम शुरू कर दिया है. शहीद के स्मारक के निर्माण के लिए परिवार ने अपने पास से ही खर्च करना शुरू कर दिया है.
फाइल फोटो

आगरा.पुलवामा हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवान रामवकील के स्मारक के निर्माण लिए परिवार ने एकजुट होकर काम शुरू कर दिया है. शहीद के स्मारक के निर्माण के लिए परिवार ने अपने पास से ही खर्च करना शुरू कर दिया है. वहीं, सोमवार को शहीद की पत्नी गीता देवी ने पहली ईंट रखकर स्मारक का शिलान्यास किया. बताया जा रहा है कि परिवार ने कई बार शासन और प्रशासन स भी इसकी मांग की थी, लेकिन कोई सुनवाई न होने पर परिवार ने स्वयं ही यग कदम उठा लिया.

आगरा: विदाई से पहले दुल्हन ने दूल्हे संग देखा ताज, मोहब्बत की कसमें खाईं

आगरा से सटे बरनाहल के गांव विनायकपुर निवासी रामवकील पुलवामा हमले में शहीद हो गए थे. उन्हें नमन करने के लिए लोगों का सैलाव वहां उमड़ पड़ा था. इसके बाद ही शासन और प्रशासन ने उनके स्मारक के निर्माण का आश्वासन दिया था. लेकिन लंबे समय तक स्मारक के रास्ते के लिए विवाद चलता रहा. इसके साथ ही स्मारक निर्माण की और प्रशासन की और से कोई ध्यान भी नहीं दिया गया. ऐसे में परिवार ने आखिर में परेशान होकर खुद ही स्मारक बनाने का निर्णय किया.

शहीद रामवकील के स्मारक का निर्माण गांव विनायकपुर में सोमवार को ही शुरू कराया गया. इसकी नींव की पहली ईंट शहीद की पत्नी गीता देवी ने रखी. इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि इस शहादत को उनका परिवार कभी नहीं भूल सकेगा. दूसरी और स्मारक को लेकर एसडीएम रतन कुमार ने कहा कि शासन की और से कार्रवाई चल रीह है. स्मारक के लिए जगह भी संरक्षित कर दी गई है और सड़क का निर्माण भी करा दिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें