किसान ने नहर में कूदकर दी जान, बैंक ने कर्ज जमा करने का बनाया था दबाव

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 11:25 PM IST
  • आगरा के पास बैंक कर्मचारियों द्वारा किसान पर पैसा जमा कराने का दबाव बनाया गया, जिसे लेकर किसान ने नहर में कूदकर अपनी जान दे दी. बताया जा रहा है कि पैसों को लेकर ही किसान को पांच दिन पहले पूर्व गांव में मूनादी के बाद बैंक कर्मचारियों को पकड़ने की कोशिश की गई थी.
आगरा के पास किसान ने नहर में कूदकर दी जान

आगरा: आगरा के पास बैंक कर्मचारियों द्वारा किसान पर पैसा जमा कराने का दबाव बनाया गया, जिसे लेकर किसान ने नहर में कूदकर अपनी जान दे दी. बताया जा रहा है कि पैसों को लेकर ही किसान को पांच दिन पहले पूर्व गांव में मूनादी के बाद बैंक कर्मचारियों को पकड़ने की कोशिश की गई थी. उसके बाद से ही किसान लापता था और शुक्रवार की सुबह नहर से किसान का शव बरामद किया गया. इस मामले को लेकर किसान के परिजनों को पुलिस ने सूचना दे दी है.

मृतक का नाम सुरेश चंद्र है, जिसकी उम्र करीब 45 वर्ष है. सुरेश चंद्र थाना निधौलीकलां क्षेत्र के गांव दूल्हा का रहने वाला है. शुक्रवार की सुबह करीब 10 बजे सुरेश चंद्र का शव 10 बजे हजारा नहर अरथरा पुल के पास से बरामद हुआ. जांच के दौरान ही मृतक के चचेरे भाई जगदीश सिंह ने बताया कि सुरेश चंद्र ने भूमि विकास बैंक से ऋण लिया था. लेकिन छह महीने पहले बेटी की शादी करने को लेकर और लॉकडाउन के कारण वह बाहर मजदूरी करने नहीं जा पाया. इसके कारण ही सुरेश चंद्र बैंक का कर्ज भी नहीं चुका पाया. कर्जा जमा कराने के लिए भूमि विकास बैंक के अधिकारी काफी दिन से दबाव बना रहे थे.

बीहड़ में साथ दिखा तेंदुओं का जोड़ा, गांव में जानवरों को बनाया शिकार

बताया जा रहा है कि बीते 30 नवंबर को बैंक कर्मचारियों की एक गाड़ी गांव में आई. कर्मचारियों की ओर से सुरेश चंद्र को पकड़ने का प्रयास भी किया गया. वहीं, बैंक का कर्ज जमा करने में असमर्थ भाई घर से लापता हो गए थे और उनकी तलाश की लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा. वहीं, शुक्रवार की सुबह अरथरा नहर पुल के पास उनका शव मिला. इस मामले की जानकारी पुलिस को दी गई है, लेकिन परिजनों ने अभी तक मामले को लेकर पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें