आगरा: यमुना एक्सप्रेस-वे पर नहीं है फास्टैग की व्यवस्था, जानें कब होगा शुरू

Smart News Team, Last updated: Wed, 17th Feb 2021, 1:36 PM IST
देश के सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य कर देने के बाद भी यमुना एक्सप्रेस वे के किसी लेन में फास्टैग की व्यवस्था नहीं है. संबंधित अधिकारियों का कहना है कि कुछ कानूनी पेंच के कारण अभी तक यह व्यवस्था लागू नहीं हो पाई है. पूरी कोशिश रहेगी कि अगले महीने तक यह लागू हो जाए
यमुना एक्सप्रेस वे पर अभी तक फास्टैग की व्यवस्था नहीं हो पाई है.

आगरा. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के फैसले के बाद देश के सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है लेकिन आगरा-नोएडा यमुना एक्सप्रेस वे की किसी भी लेन में फास्टैग के इंतजाम नहीं है. संबंधित अधिकारियों का कहना है कि अगले माह तक फास्टैग की व्यवस्था कर दी जाएगी. गौरतलब है कि आगरा, मथुरा सहित जनपद के सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य हो चुका है लेकिन यमुना एक्सप्रेसवे के टोल प्लाजा पर अभी फिलहाल कैश में ही लेनदेन हो रहा है.

आपको बता दें कि आगरा से नोएडा के बीच यमुना एक्सप्रेस-वे 165 किलोमीटर लंबा है. जेवर, मांट और आगरा में कुल 3 टोल प्लाजा हैं. यमुना एक्सप्रेस-वे पर रोजाना करीब 25000 वाहन आते-जाते हैं और वीकेंड पर यह संख्या 30,000 के पार हो जाती है. नोएडा से आगरा तक के यमुना एक्सप्रेस-वे के रास्ते बड़ी संख्या में लोग ताजमहल देखने के लिए आगरा आते हैं. लोगों का वक्त टोल प्लाजा पर बर्बाद ना हो और लोग बिना वक्त गवाए टोल प्लाजा को क्रास कर अपने सफर को आसान बना सकें इसलिए फास्टैग की व्यवस्था की गई थी लेकिन यमुना एक्सप्रेसवे टोल प्लाजा पर अभी तक फास्टैग की व्यवस्था लागू नहीं हुई है.

दिल्ली-कानपुर हाईवे पर तेज रफ्तार कार ट्रक से भिड़ी, एक ही परिवार के 4 की हुई मौत

यमुना एक्सप्रेस-वे के अधिकारी ने बताया कि कुछ कानूनी पेंच के कारण टोल पर फास्टैग की व्यवस्था अभी नहीं हो पाई है. अगले माह तक पूरी कोशिश होगी कि यमुना एक्सप्रेस-वे के तीनों टोल प्लाजा पर फास्ट टैग की व्यवस्था लागू हो जाए. अभी यमुना एक्सप्रेस-वे के किसी भी लेन से गुजरने पर कैश देना पड़ता है. आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के भी ज्यादातर लेन में फास्टैग की व्यवस्था हो चुकी है. एक-दो लेन बची हुई हैं, जहां कैश का लेनदेन होता है. वहां भी फास्टैग की प्रक्रिया जारी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें