आगरा: पुलिस दबिश से डरकर आलू व्यापारी ने हाईटेंशन लाइन के खंभे से लटककर दी जान

Smart News Team, Last updated: 07/10/2020 01:20 PM IST
  • आगरा के खंदौली में एक आलू व्यापारी ने हाईटेंशन लाइन के खंभे से लटककर जान दे दी. बताया जा रहा है कि उस पर धोखाधड़ी का केस किया था जिसमें पुलिस दबिश से डरकर उसने आत्महत्या की है.
आगरा: पुलिस दबिश से डरकर आलू व्यापारी ने हाईटेंशन लाइन के खंभे से लटककर दी जान

आगरा. आगरा में खंदौली के गांव खेरिया में एक व्यापारी ने आत्महत्या कर ली. बताया जा रहा है कि उसने पुलिस दबिश से डरकर सुसाइड की है. आलू व्यापारी चरण सिंह ने मंगलवार की रात खुदकुशी कर ली. बुधवार सुबह उसका शव गांव के बाहर हाईटेंशन लाइन के खंभे पर लटका मिला. उस पर किसी ने धोखाधड़ी का केस किया था. इसी मामले में पुलिस की दबिश से डरकर उसने आत्महत्या की. ग्रामीणों में इस घटना के बाद से आक्रोश है. भीड़ ने खंदौली थाने का घेराव किया.

बताया जा रहा है कि गांव खेरिया निवासी चरण सिंह आलू की खेती और व्यापार करता था. काम से जुड़े किसी दूसरे व्यापारी से उसका तीन लाख रुपये की लेनदेन को लेकर विवाद था. उस अन्य व्यापारी ने चंदौसी थाने में चरण सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी की धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज करवाया. इसी मामले में पुलिस दबिश करने के लिए गांव पहुंची. इस दबिश के लिए चंदौसी थाने के एसआई मनोज कुमार वर्मा तीन सिपाहियों के साथ खंदौली आए.

आगरा: 15 दिन में मिलीं 7 लड़कियां, ऑपरेशन बरामदगी में 12 की खोज जारी

जानकारी के मुताबिक ये टीम पहले खंदौली थाने गई. इसके बाद वो खेरिया गांव में दबिश देने के लिए निकले. उन्हें चरण सिंह नहीं मिला. पुलिस ने उसके भाई राजपाल और राजेंद्र को पकड़ा. चरण सिंह को गांव वालों ने फोन करके भाइयों के पकड़े जाने की खबर दी. चरण सिंह डर गया और फोन पर कहा कि वो खुदकुशी करने जा रहा है. बुधवार की सुबह उसका शव फंदे पर लटका मिला. 

हाथरस गैंगरेप केस: जांच कर रही SIT को मिले और 10 दिन, आज नहीं सौंपेंगे रिपोर्ट

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. ग्रामिणों ने बवाल किया और कहा कि चरण सिंह के भाईयों को बिना किसी कारण हिरासत में क्यों लिया. केस केवल चरण सिंह के खिलाफ था. वहीं पुलिस ने चरण सिंह की खुदकुशी की बात सुनकर उसके भाइयों को छोड़ दिया. आरोप है कि पुलिस वसूली एजेंट बनकर आई थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें