आगरा में बच्ची ने मां की डांट से बचने के लिए मांगी भीख, पुलिस को बताई कहानी

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 05:57 PM IST
  • आगरा में इन दिनों पुलिस भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए अभियान चला रही है, जिसमें अब तक पुलिस ने चार बच्चों को इस अपराध से रेस्क्यू भी कराया है. इसी दौरान पुलिस को एक बच्ची मिली, जिसने पुलिस से सारी आपबीती बताई. बच्ची ने कहा कि वह मां की डांट के डर से सड़कों पर भीख मांगती है.
मां की डांट के डर से सड़कों पर भीख मांगती थी बच्ची

आगरा: आगरा में इन दिनों पुलिस भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए अभियान चला रही है, जिसमें अब तक पुलिस ने चार बच्चों को इस अपराध से रेस्क्यू भी कराया है. इसी दौरान पुलिस को एक बच्ची मिली, जिसने पुलिस से सारी आपबीती बताई. बच्ची ने कहा कि वह मां की डांट के डर से सड़कों पर भीख मांगती है. मां द्वारा जबरन बच्ची से भिक्षावत्ति करवाई जाती है. इतना ही नहीं, बच्ची ने पुलिस को बताया कि वह अगर घर पर पैसे नहीं लेकर जाती है तो मां उसकी खूब पिटाई भी करती है.

रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची नौ साल की है, जो कि पुलिस और चाइल्ड लाइन टीम को सदर क्षेत्र के पास मिली. नौ साल की बच्ची ने पुलिस से भीख मांगने के कारण के बारे में बताते हुए कहा कि उसकी मां उससे यह सब जबरदस्ती करवाती है. उसके पिता रिक्शा चलाते हैं, ऐसे में जब वह अपने काम पर निकल जाते हैं तो उसके बाद मां बच्ची को भीख मांगने के लिए भेज देती है. लेकिन अगर बच्ची पैसे लेकर नहीं लौटती तो घर पर उसकी पिटाई भी की जाती है.

SN मेडिकल कॉलेज में जनरल सर्जरी के लिए बढ़ा दबाव, तारीखें लेकर ही लौटे मरीज

नौ साल की बच्ची के साथ ही पुलिस को एक सात साल का बच्चा भी मिला था, जो कि अपनी मां के साथ भीख मांग रहा था. ऐसे में दोनों बच्चों को बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया, जहां बच्चों की मां भी आईं. बच्चों की मांग ने पुलिस और समिति के सामने माफई मांगी, जिसके बाद बच्चे उन्हें सौंप दिये गए. इसके अलावा पुलिस और चाइल्ड लाइन टीम को और भी बच्चे मिले, जिनकी काउंसिलिंग होनी अभी बाकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें