हनी ट्रैप के शक में हिरासत में लिए गए फौजी को ATS ने छोड़ा, जांच जारी

Smart News Team, Last updated: 21/09/2020 10:49 PM IST
ताजनगरी आगरा में हनी ट्रैप के शक में हिरासत में लिए गए सेना के जवान को एटीएस ने लखनऊ में पूछताछ के बाद छोड़ दिया है. हालांकि, मामले की जांच अभी जारी है. 
arrested pics

आगरा. एंटी टेरेरिस्ट सेक्वाइड (एटीएस) ने रविवार को छुट्टी मनाने आए फौजी को हनी ट्रैप के शक में  पूछताछ के लिए हिरासत में लिया. हिरासत में लेकर फौजी को एटीएस टीम रात को ही लखनऊ ले गई थी. लखनऊ मुख्यालय में फौजी से पूछताछ की गई. फौजी के मोबाइल से डिलीट डाटा रिकवर करने की कोशिश की जा रही है. फिलहाल फौजी को छोड़ दिया गया है लेकिन जांच अभी खत्म नहीं हुई है. एटीएस सूत्रों का कहना है कि गहराई से छानबीन के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जाएगा.

फौजी की तैनाती पंजाब के फिरोजपुर में थी और वो अभी दस दिन पहले ही छुट्टी पर घर लौटा था. रविवार की सुबह फतेहबाद के गांव जगराजपुर से फौजी को हिरासत में लिया गया था. 

बताया जा रहा है की गिरफ्तार फौजी वर्ष 2017 को फौज में भर्ती हुआ था. तब उसकी तैनाती हैदराबाद में की गई थी. उसके बाद उसका स्थानांतरण पंजाब के फिरोजपुर जिले में कर दिया गया जो की भारत-पाकिस्तान के बार्डर पर है. 

हालांकि इसकी पुष्टि नहीं की गई है लेकिन मामला हनी ट्रेप का लग रहा है. खबर है की जवान को सोशल मीडिया पर पहले जाल में फँसाया गया और बाद में उससे कोई खुफिया जानकरियाँ ली गई. जांच के लिए जवान के मोबाइल को जब्त किया गया है. अन्य सोशल साइट की जांच भी जा रही है और डिलीट डेटा को भी रिकवर किया जाएगा. 

आगरा: BJP विधायक, पूर्व जिलाध्यक्ष समेत 16 पर केस वापिस लेगी योगी सरकार

गाँव के लोगों ने जानकारी दी है की टीम सादे कपड़ो में गाँव में आई  और जवान को गिरफ्तार कर लिया गया. परिवार के लोगों से बात करने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है. जानकारी यह भी मिल रही है की सारी गतिविधियां मिल्ट्री इंटेलिजेंस एजेंसी के कहने पर की गई हैं. इससे पहले भी इंटेलिजेंस ने हनी ट्रेप का मामला पाया था जिसमें एक वैज्ञानिक गिरफ्तार किया गया था. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें