आगरा ओवरसीज बैंक लूट: स्टाफ, मैनेजर को बाथरूम में बंद कर CCTV फुटेज ले गए डकैत

Smart News Team, Last updated: 15/12/2020 09:18 PM IST
  • आगरा के इंडियन ओवरसीज बैंक में बदमाशों ने बैंक में डाका डालकर 56.94 लाख रुपये की लूट की. बदमाशों ने बैंक के स्टाफ, मैनेजर समेत पांच बैंक कर्मचारियों को बाथरूम में बंद कर दिया. लूट के बाद बदमाशों ने सीसीटीवी की फुटेज भी अपने साथ ले गए.
इंडियन ओवरसीज बैंक में बदमाशों ने बैंक में डाका डालने के बाद अपने साथ सीसीटीवी की फुटेज भी ले गए.

आगरा. आगरा में ग्वालियर हाईवे पर रोहता स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक में मंगलवार शाम को लूट हुई. मिली जानकारी के मुताबिक इंडियन ओवरसीज बैंक में दुस्साहसी चार बदमाशों ने बैंक में डाका डालकर 56.94 लाख रुपये की लूट की. इतना ही नहीं बदमाशों ने बैंक के स्टाफ, मैनेजर समेत पांच बैंक कर्मचारियों को बाथरूम में बंद कर सीसीटीवी की डीवीआर भी ले गए, जिसमें बदमाशों ने वारदात कैद थी. 

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने नाकाबंदी की, लेकिन अभी तक बदमाशों को कोई सुराग पुलिस को हाथ नहीं लग पाया है. एडीजी जोन, आईजी रेंज, एसएसपी और एसपी सिटी मौके पर पहुंच गए हैं. बदमाशों के हौसले इतने बुलंद थे कि उन्होंने बुंदूकटरा पुलिस चौकी से 200 मीटर की दूरी पर स्थित बैंक में मंगलवार शाम पांच बचे लूट की घटना को अंजाम दिया. न्यू सुरक्षा विहार कालोनी के सामने हाईवे पर डियन ओवरसीज बैंक स्थित है. 

आगरा में पुलिस चौकी से 200 मीटर दूर इंडियन ओवरसीज बैंक में 57 लाख की डकैती

बैंक की मैनेजर अनीता मीना ने बताया कि बैंक के बगल में बैंक का एटीएम है. जब लूट की घटना हुई थी, उस वक्त बैंक ग्राहकों के लिए बंद कर दिया गया था. शाम का समय था और कैश मिलान का काम हो रहा था, उसी दौरान एक युवक बैंक चैनल पर आया. उसने चैनल खटखटाया. पूछने पर बताया कि एटीएम काम नहीं कर रहा है. इस पर डिप्टी मैनेजर चैनल खोलकर आए. वह एटीएम की तरफ जाते उससे पहले बदमाशों ने उन्हें पकड़ लिया फिर चार बदमाशों की गैंग बैंक में आ गई.

आगरा ओवरसीज बैंक लूट: काम खत्म था, ATM खराबी का झांसा देकर शाम 5 बजे घुसे डकैत

उन्होंने बताया कि बैंक में आते ही एक बदमाश ने चिलाते हुए कहा कि ज्यादा होशियारी की तो गोली मार देंगे. बदमाशों के पास तमंचे और चाकू थे. बदमाशों को देखकर बैंक के सभी कर्मचारी डर गए. बदमाशों ने सभी बैंक कर्मचारियों को बाथरूम में ले जाकर बंद कर दिया. इसके बाद लूट की घटना को अंंजाम दिया. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें