प्यार में पागल छात्र ने टीचर का फर्जी अश्लील फेसबुक अकाउंट बनाकर डाल दिया रेट कार्ड

Smart News Team, Last updated: 05/01/2021 09:50 PM IST
  • आगरा में 11 में पड़ रहे छात्र ने स्कूल शिक्षिका का फेसबुक पर फर्जी अश्लील अकाउंट बना दिया. जिससे शिक्षिका के पास लोगों के फोन आने लगे. परेशान होकर टीचर ने पुलिस में शिकायत कर दी. जिसके बाद पुलिस ने छात्र और उसके साथी को अरेस्ट कर लिया है.
आगरा में 11वीं के छात्र ने स्कूल शिक्षिका का फेसबुक पर फर्जी अश्लील अकाउंट बना दिया. प्रतीकात्मक तस्वीर

आगरा. आगरा में स्कूल शिक्षिका को छात्र की नादानी को नजरंदाज करना महंगा पड़ गया. दरअसल, कक्षा 11 का छा़त्र स्कूल टीचर को दिल दे बैठा. जब शिक्षिका ने उसे नजरंदाज किया तो नाबालिग छात्र ने दोस्त की मदद से फेसबुक पर टीचर का फर्जी अकाउंट बना दिया. जिसमें एस्काॅर्ट बनाकर एक रात का चार्ज, फोटोज और शिक्षिका का फोन नंबर डाल दिया. जिसके बाद शिक्षिको को फोन आने लगे. 

परेशान होकर शिक्षिका ने पुलिस में शिकायत की. पुलिस ने छात्र और उसके साथी को अरेस्ट कर लिया है. इस बारे में साइबर क्राइम सेल प्रभारी सुल्तान ने कहा कि जांच में कान्वेंट स्कूल में पूर्व में पढ़े 11वीं के छात्र की करतूत सामने आई है. उसके साथी लाला ठाकुर निवासी रकाबगंज का नाम भी निकल कर आया है. पुलिस ने दोनों के खिलाफ थाना जगदीशपुरा में मुकदमा दर्ज किया गया है.

पेंशन स्वीकृत कराने के बहाने किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म

ये मामला आगरा के कान्वेंट स्कूल का है. इसी स्कूल में पहले पढ़ने वाला पूर्व छात्र टीचर से ट्यूशन पढ़ता था. उसे शिक्षिका पसंद आ गई. उसने टीचर को जताने की भी कोशिश की लेकिन शिक्षिका ने नजरंदाज कर दिया. छात्र ने ट्यूशन छोड़ दिया. उसे कहीं से शिक्षिका का नंबर मिल गया.

आगरा में विवाहिता ने की खुदखुशी, स्वजन ने लगाया ससुराल पर दहेज मांगने का आरोप

छात्र ने अपने साथी के साथ मिललकर अश्लील फर्जी अकाउंट बना दिया और एस्काॅट सर्विस के लिए मोबाइल नंबर डाल दिया गया. जिसमें एक रात के लिए 1500 रुपए चार्ज लिख दिए. जिससे शिक्षिका के पास दिन-रात सैकड़ों फोन आने लगे. लोग उससे मिलने के बारे में पूछने लगे. टीचर को फेसबुक पर फर्जी आईडी के बारे में पता चला तो होश उड़ गए. जिसके बाद पुलिस में शिकायत की. मामला जांच के लिए साइबर पास गया तो पूरा खुलासा हुआ. दोनों आरोपियों को अरेस्ट कर लिया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें