किसान आंदोलन: आज दिल्ली-आगरा व दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे बंद करेंगे किसान

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 08:51 AM IST
  • रविवार को किसान आंदोलन का 18वां दिन है. आज किसानो ने दिल्ली जयपुर और दिल्ली आगरा हाईवे बंद करने का ऐलान किया है. नए कृषि कानून के खिलाफ किसान पिछले 17 दिन से आंदोलन कर रहे है. सरकार और किसानो की बीच अब तक की बातचीत बेनतीजा रही है.
किसान आंदोलन में टोल प्लाजा बंद

आगरा: किसान आंदोलन का आज 18वा दिन है. रविवार को किसानो ने दिल्ली-आगरा व दिल्ली- जयपुर हाईवे को जाम करने का ऐलान किया है. किसान ने कहा, जब सरकार नए कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती, तब तक किसान पीछे नहीं हेटेंगे. किसानों ने ऐलान किया है, कि 14 दिसंबर को देशभर के किसान द्वारा अपने जिले के जिलाधिकारियों को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा. भारतीय किसान यूनियन के नेताओं का कहना है कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती, तब तक वे वापस नहीं जाएंगे.

किसानों नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 17 दिनों से दिल्ली की सीमा पर है. रविवार को वीकेंड के दिन किसानों ने दिल्ली को अन्य राज्य से जोड़ने वाले मार्ग को बंद करने का ऐलान किया हैं. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन किया. राकेश टिकैत ने 12 दिसंबर को देश भर में टोल प्लाजा को मुफ्त ऐलान किया था. किसान आंदोलन को देखते हुए केंद्र सरकार ने दिल्ली के बार्डरों पर भारी सुरक्षाबल को तैनात किया है. 

आगराः फुटवियर इंडस्ट्री पर कोरोना की मार, लॉकडाउन के डर से नहीं हो रहे ऑर्डर कंफर्म

14 दिसंबर को किसान ने टोल प्लाजा के साथ बीजेपी कार्यालय के घेराव की जानकारी है. बता दें कि 9 दिसंबर को सरकार और किसानों के बीच बातचीत होनी थी. लेकिन किसान नेताओं ने छठे दौर की बातचीत में शामिल होने से इनकार कर दिया था. केंद्र सरकार ने किसान से बातचीत का प्रस्ताव भेजा था. प्रस्ताव के जरिए सरकार किसानों से नए कृषि कानून के मुद्दों पर बात करना चाहती थी. किसान ने प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया.

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर डिवाइडर से टकराकर खाई में गिरी कार, 3 की मौत

ढाई घंटे सैंया बॉर्डर पर बैठी रही पुलिस, दूसरे रास्ते निकल गए प्रदर्शनकारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें