आगरा जेल में हाजिर नहीं हुए पैरोल पर छोड़े गए 85 बंदी, पुलिस को लिखा गया पत्र

Smart News Team, Last updated: 29/11/2020 03:57 PM IST
  • उत्तर प्रदेश की आगरा जिला जेल से कोरोना वायरस संक्रमण काल में पैरोल पर छोड़े गये सजायाफ्ता 114 बंदियों में शनिवार तक 85 लौटकर नहीं आये हैं. इस मामले को लेकर जिला जेल अधीक्षक शशिकांत मिश्रा ने बताया कि जेल प्रशासन ने बंदियों के बारे में जानकारी के लिए पुलिस अधिकारियों को पत्र भेजे हैं.
फाइल पार्टी

आगरा: उत्तर प्रदेश की आगरा जिला जेल से कोरोना वायरस संक्रमण काल में पैरोल पर छोड़े गये सजायाफ्ता 114 बंदियों में शनिवार तक 85 लौटकर नहीं आये हैं. इस मामले को लेकर जिला जेल अधीक्षक शशिकांत मिश्रा ने बताया कि जेल प्रशासन ने बंदियों के बारे में जानकारी के लिए पुलिस अधिकारियों को पत्र भेजे हैं. बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण और खतरे को देखते हुए बीते अप्रैल माह में साल से कम सजा के मामले में सजा काट रहे बंदियों को पैरोल पर छोड़ने के आदेश दिये गये थे. इस आदेश पर जिला जेल से 114 बंदियों को दो और नौ अप्रैल को छोड़ दिया गया था.

बताया जा रहा है कि पैरोल की अवधि 13 नवंबर और 21 नवंबर को समाप्त हो गई, जिससे बंदियों को वापस जेल में भी आना था. इस मामले में बात करते हुए जेल अधीक्षक ने बताया कि बंदियों को 13 नवंबर और 21 नवंबर को वापस जेल लौटना था, क्योंकि इनकी पैरोल अवधि समाप्त हो गयी थी. पैरोल पर छोड़े गए बंदियों में 9 की रिहाई हो चुकी है तो वहीं नौ अन्य बंदियों की सुनवाई किसी दूसरे केस पर थी.

आगरा में किरावली पुलिस चौकी के पास हुई फायरिंग, भैंस चुराकर ले गए चोर

इस मामले की जानकारी देते हुए जेल अधीक्षक ने बताया कि नौ बंदियों की किसी अन्य केस पर सुनवाई थी जबकि चार हाजिर हुए हैं. इनके अलावा शनिवार तक सात और बंदी हाजिर हो गये. लेकिन ऐसे में 85 अभी तक वापस नहीं आये हैं, जिन्हें कोरोना के दौरान पैरोल पर छोड़ा गया था. इनके बारे में जानकारी के लिए पुलिस अधिकारियों को पत्र भी लिख दिया गया है. मिश्रा ने कहा कि प्रत्येक बंदी को पहले अस्थायी जेल में रखा जायेगा और कोरोना जांच की रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही उन्हें जेल में दाखिल किया जायेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें