आगरा में डेथ सर्टिफिकेट बनवाने के लिए लग रही लंबी लाइन, बुधवार को आए 99 आवेदन

Smart News Team, Last updated: Thu, 20th May 2021, 1:57 PM IST
आगरा में मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए काफी संख्या में लोग आ रहे हैं. बुधवार को डेथ सर्टिफिकेट बनवाने के लिए 99 आवेदन आए हैं. शहर में चार जोनल कार्यालय हैं. प्रत्येक जोनल कार्यालय में एक-एक कर्मचारी की तैनाती की गई है. कर्मचारी सुबह दस से दोपहर दो बजे तक मिलेंगे.
आगरा में बड़ी संख्या में लोग मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा रहे हैं.

आगरा. ताजनगरी में डेथ सर्टिफिकेट के लिए भी लंबी-लंबी लाइन लग रही है. दरअसल, कोरोना वायरस की दूसरी लहर में मृत्यु प्रमाण पत्र के आवेदनों की संख्या में भारी वृद्धि हुई है. जहां पहले हर दिन 15 से 20 आवेदन ही आते थे, अब यह संख्या बढ़कर 90 से 100 के बीच पहुंच गई है.

जानकारी के अनुसार बुधवार को डेथ सर्टिफिकेट के लिए 99 आवेदन आए. इनमें 70 आवेदन नगर निगम कार्यालय और 29 चार जोनल कार्यालयों में पहुंचे थे. गौरतलब है कि निगम कार्यालय में फार्म जमा कराने और प्रमाण पत्र लेने के लिए लोगों की भीड़ लगी रही. यहां कोरोना प्रोटोकाल का पालन भी नहीं हुआ. इस ओर नगर आयुक्त निखिल टीकाराम द्वारा प्रमाण पत्रों की सीधे मॉनिटरिंग की जा रही है. नगरायुक्त ने बताया कि शहर में चार जोनल कार्यालय हैं. प्रत्येक जोनल कार्यालय में एक-एक कर्मचारी की तैनाती की गई है. कर्मचारी सुबह दस से दोपहर दो बजे तक मिलेंगे.

ऐसे बनेगा मृत्यु प्रमाण-पत्र

अगर किसी मरीज की मौत हो जाती है तो मौत के 31 दिनों तक परिजनों को कोई भी शपथ पत्र नहीं देना है.परिजनों को श्मशान घाट की रसीद, मृतक और आवेदक का फोटो, दो गवाहों के आधार कार्ड की फोटो और मोबाइल नंबर देना होगा. यदि परिजन 31 दिनों के बाद डेथ सर्टिफिकेट बनवाते हैं तो इसके लिए उन्हें शपथ पत्र देना होगा. दोनों ही तरीकों में सत्यापन किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें