आगरा: लूट और हत्या केस में बरामद कैश पर कसा आयकर विभाग का शिकंजा, रकम सीज

Smart News Team, Last updated: 08/10/2020 07:12 AM IST
  • आगरा के कमला नगर में 40 लाख लूटने के साथ व्यापारी की हत्या कर दी गई थी. अब बरामद रकम आयकर विभाग में फंस गई है. लूट की रकम के लिए पहले किसी ने अपनी दावेदारी नहीं दिखाई. अब अलीगढ़ के गुटखा व्यापारी ने इसे अपना बताया है.
आगरा: लूट और हत्या केस में बरामद कैश पर कसा आयकर विभाग का शिकंजा, रकम सीज

आगरा. आगरा के कमला नगर में 40 लाख की लूट के लिए व्यापारी ललित काठपाल की हत्या की गई थी. पुलिस ने जांच कर 37.98 लाख रुपए बरामद किए थे. इस कैश को लेकर पहले किसी ने भी अपनी दावेदारी नहीं दिखाई. बाद में आगरा के ही गुटखा व्यापारी ने इसे अपना बताया. वहीं आयकर विभाग ने इस रकम को सीज कर लिया है. यह रकम जांच के बिना गुटखा व्यापारी को नहीं दी जाएगी.

ताजनगरी के कमला नगर में 26 अगस्त को लूट के लिए सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया था. पुलिस जांच में सामने आया कि गोल्डमोहर गुटखा के अलीगढ़ डिस्ट्रीब्यूटर से रकम को लूटा गया था. मृतक ललित के भाई रिंकू गुटखा कारोबारी से रकम लेकर आता था. पुलिस ने पूछताछ की तोत मृतक के भाई रिंकू ने पहले दिन कहा लूटे गए बैग में खाने का टिफिन है. वही पुलिस को जानकारी 14 लाख रुपए की मिली. तीन दिन बाद पुलिस के सामने 40 लाख की लूट का मामला सामने आया. 

आगरा: हाइवे पर LPG टैंकर में अचानक आग लगने से थर्रा गए लोग, बड़ा हादसा टला

पुलिस ने लूट की रकम में से 37 लाख 98 हजार बरामद कर लिए जिसके बाद गुटखा व्यापारी दिलीप ने पुलिस को लिखकर दिया कि रिंकू के पास उनके 40 लाख रुपए थे. पुलिस ने बताया कि लूट और हत्या की वारदात को ट्रांसपोर्ट कंपनी के मालिक और भतीजे ने अंजाम दिया था. 

अजब-गबज यूपी: सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे 120 साल तक के टीचर्स

पुलिस ने अलीगढ़ के गुटखा व्यापारी से कैश का हिसाब मांगा था और उसके बाद आयकर विभाग को भी लिखित में सूचना दी. एएसपी सौरभ दीक्षित का कहना है कि कैश के संबंध में जांच के लिए आयकर विभाग को रिपोर्ट भेजी गई थी. अब आयकर विभाग की तरफ से जांच जारी है. व्यापारी को कैश के लिए सही कागज दिखाने होंगे तभी उसे पैसे वापस मिलेंगे. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें