आगरा में शातिर ने ओटीपी चुराकर खाते से उड़ाए 50 हजार, गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 04/11/2020 12:16 AM IST
  • आगरा साइबर सेल ने एक ऐसे शातिर को गिरफ्तार किया है जिसनें एक युबक के मोबाइल का प्रयोग करके अपना गोल्ड लोन चुका दिया. जिसके बाद आरोपी ने उस व्यकित के फोन से ओटीपी भी डिलीट कर दिया. पुलिस ने आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया है.
पुलिस ने शातिर को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है

आगरा के थाना शाहगंज पुलिस और साइबर सेल ने बैंक खाते से गोल्ड लोन की राशि चुकाने वाले शातिर को पकड़ा है. इस शातिर युवक ने दूसरे युवक के मोबाइल का इस्तेमाल करते हुए उसी युवक के खाते से गोल्ड लोन के रुपये जमा कर दिए. खाते से पैसे कटने की जानकारी जब युवक को लगी तो उसने इसकी शिकायत शाहगंज पुलिस को कर दी. जिसके बाद पुलिस आरोपी युवक को पकड़ लिया. आरोपी युवक ने पुलिस को बताया कि उससे गोल्ड लोन के रुपये अदा करने थे इसलिए उसने ऐसा किया. पुलिस ने शातिर युवक को जेल भेजा है.

 

शाहगंज निवासी मनोज कुमार कुछ दिन पहले गये थे जहां उन्हें अपने खातें में 50 हजार रुपये कम मिलें. जब मनोज कुमार बैक कर्मचारियों से रुपये के गायब होने के बारे में पूछा, तो बैक कर्मचारी ने ऑनलाइन गोल्ड लोन चुकाने की बात कही. इसके बाद मनोज ने एसएसपी बबलू कुमार से बैंक खाते से अज्ञात व्यक्ति द्वारा 50 हजार रुपये ऑनलाइन फांड किये जाने की शिकायत की थी. इसकी जांच साइबर क्राइम सेल को दी गई पुलिस के मुताबिक अपराधी को तलाशना चुनौती भरा काम था. पुलिस ने मणप्पुरम गोल्ड लोन से तकनीकी जानकारी जुटाई, जिसके आधार पर पुलिस टीम शातिर अपराधी तक पहुंच गई.

 

महिला ने फोड़ा हथौड़े से युवक का सिर, लड़कियों को फंसाने का लगाया आरोप

 

पुलिस के अनुसार, इस मामले शिवम पुत्र धर्मपाल निवासी दौरेठा, शाहगंज को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि शातिर ने अनिल कुमार की अज्ञानता का फायदा उठा कर धोखे से उसके मोबाइल के ओटीपी चोरी किया और गोल्ड लोन के 50 हजार रुपये चुका दिए. इसके बाद ओटीपी भी डिलीट कर दिया. पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया है. इस शातिर को गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक थाना शाहगंज सतेंद्र सिंह राघव, प्रभारी साइबर क्राइम सेल सुल्तान सिंह, विजय तोमर, बबलू कुमार, इंतजार, जितेंद्र रहे.

फेसबुक पर बूढ़ी महिला से इश्क कर बैठा जवान लड़का, मिला तो सिर पर पड़ गई हथौड़ी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें