शौक पूरे करने के लिए दोस्त संग नाबालिग ने दादाजी के अकाउंट से साफ किए 15 लाख

Smart News Team, Last updated: 18/09/2020 08:59 PM IST
  • रिटायर्ड एयरफोर्स ऑफिसर के 17 साल के पोते ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर उनके अकाउंट से करीब पन्द्रह लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए. जिसके बाद साइबर सेल के पास मामला जाने के बाद आरोपियों की पहचान हो सकी.
प्रतीकात्मक तस्वीर

आगरा: अपने शौकों को पूरा करने के लिए एक नाबालिग लड़के ने अपने दादा जी के बैंक एकाउंट से 15 लाख रुपए निकाल लिए.  विलासितापूर्ण लाइफस्टाइल के लिए 17 वर्षीय नाबालिग लड़के ने अपने ई-वॉलेट अकाउंट पेटीएम और मोबिक्विक पर ये सारे पैसे ट्रांसफर कर फर्जीवाड़ा किया. आगरा के एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि पीड़ित ने शिकायत दर्ज कराई कि उनके बैंक अकाउंट से 15 लाख रुपयों का अवैध ट्रांजैक्शन किया गया है.

जानकारी के मुताबिक 80 वर्षीय एक रिटायर्ड एयर फोर्स ऑफिसर राजा राम के बैंक अकाउंट से ये ट्रांजैक्शन मार्च से लेकर अगस्त के महीने में हुआ है. जिसके बाद शाहगंज थाने में आईपीसी की धारा 420 के तहत इस संबंध में एक केस भी दर्ज किया गया. जांच में पीड़ित ने बताया कि इस ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए उसके पास ना ही कोई कॉल आई और ना ही कोई ओटीपी मिला. मामले की शिकायत के बाद इसकी जांच की जिम्मेदारी साइबर सेल को दे दी गई.

गाय को बचाने में कार पेड़ से टकराई, 2 की मौत, 3 की हालत गंभीर

जांच के दौरान साइबर सेल को पता चला कि पेटीएम और मोबिक्विक के ई-वॉलेट में ये पैसे ट्रांसफर किए गए हैं. साथ ही यह भी पता चला कि ये ई-वॉलेट फेक सिम कार्ड के जरिए बनाए गए थे. जिसके बाद साइबर सेल ने बताया कि ये पैसे उसके पोते ने निकाले थे. वह धीरे-धीरे लगातार अकाउंट से पैसे निकाल रहा था. शातिर पोते ने दादाजी के फोन से अलर्ट मैसेज व ओटीपी के मैसेज बाद में फौरन डिलीट कर देता था. इस काम में उसका दोस्त 21 वर्षीय मोहित सोलंकी साथ दे रहा था जो इन सबका मास्टरमाइंड था. इसमें दो और लोगों के मिले होने का शक है. ये सभी जालसाज मिलकर शराब और मोबाइल फोन पर वे सारे पैसे खर्च कर रहे थे. पीड़ित के घर से डबल बेड, डबल डोर रेफ्रिजरेटर, एलईडी टीवी, हाई क्वालिटी स्पीकर जैसे सामान बरामद हुआ है. इसके साथ ही बुजुर्ग के पोते को भी हिरासत में ले लिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें