आगरा: ऑक्सीजन की किल्लत, छोटा भाई लाइन में लगा रहा, बड़े भाई ने तोड़ा दम

Smart News Team, Last updated: Wed, 28th Apr 2021, 3:50 PM IST
  • आगरा में बड़े भाई की जान बचाने के लिए छोटा भाई घंटों लाइन में लगा रहा लेकिन फिर भी उसे बचा ना सका. ऑक्सीजन के लिए उसने कई लोगों के सामने हाथ भी जोड़े लेकिन फिर भी अपने भाई के लिए जिंदगी नहीं ले पाया.
ऑक्सीजन की कमी से बड़े भाई की गई जान, छोटा लाइन में ही लगा रह गया. (प्रतीकात्मक फोटो)

आगरा. कोरोना के इस संकट की घड़ी में लोग ऑक्सीजन ना मिलने और ब्लैक में मिलने के कारण कई ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जो किसी का भी दिल झकझोर कर रख सकते हैं. ऐसा ही एक मामला आगरा से सामने आया है. जहां पर एक छोटा भाई अपने बड़े भाई के सांसों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल में कराने की लाइन में खड़ा था. उसके भाई को बहुत जरूरत थी जिसके लिए उसने वहां मौजूद अधिकारियों के हाथ-पांव भी जोड़े लेकिन उसे समय पर ऑक्सीजन नहीं मिल सका. इतने में लाइन में लगे व्यक्ति को पता लगता है कि जिसके लिए वो यहां विनती कर रहा है वो दुनिया छोड़ चुका है. 

आगरा के एडवांस गैस रिफलिंग प्लांट के बाहर मंगलवार को एक भाई अपने बड़े भाई के लिए परेशान था. ऑक्सीजन सिलेंडर भरवाने आए राजामंडी निवासी नरेंद्र कुमार गौतम लाइन में लगे थे. ये लाइन भी करीब 500-500 मीटर की दो लाइनें लगी हुई थी. वह लाइन में अपने भाई के लिए सांसों का इंतेजाम करने पहुंचे थे. उनके बड़े भाई के फेफड़ों में पानी भर जाने के कारण उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, जिसके लिए ही वह ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल कराने के लिए लाइन में लगे थे. 

रेमडेसिविर के नाम पर फ्रॉड, ग्लूकोज का पानी डाल बेच रहे, जानें कैसे पहचानें असली

नरेंद्र कुमार इधर पीने भाई की सांसों के इंतेजाम में लगे थे, वही दूसरी तरफ बड़े भाई ने अस्पताल की तरफ से ऑक्सीजन नहीं दिए जाने के कारण बड़े भाई की मौत हो गई. जिसकी जानकारी नरेंद्र को अस्पताल वालों ने कॉल करके बताया तो वह वहीं पर बदहवास होकर गिर पड़े. जब उन्हें लोगों ने किसी तरह उठाया, जैसे ही वह होश में आए तो अस्पताल की तरफ दौड़ पड़े. यह हाल केवल आगरा के ही नहीं पूरे प्रदेश का बना हुआ है. जहां पर ऑक्सीजन की कमी से अभी तक कई लोगों की जान जा चुकी है. 

कलयुग में महाभारत! पत्नी को दांव पर लगा खेला जुआ, चीरहरण से बचाने पहुंचे पड़ोसी 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें