आगरा: फार्मा कंपनी के कर्मी का रेता गला, सरसों के खेत में मिला शव

Smart News Team, Last updated: Sun, 28th Feb 2021, 5:56 PM IST
  • आगरा के जगदीशपुरा के गांव मघटई में फार्मा कंपनी के कर्मचारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई. उसका शव सरसों के खेत में पड़ा मिला. मामले को लेकर पुलिस छानबीन में लगी हुई है.
फाइल फोटो

आगरा. आगरा के जगदीशपुरा के गांव मघटई में एक फार्मा कंपनी के कर्मचारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई. फार्मा कंपनी के कर्मचारी का नाम किशोर कुमार है, जिसकी उम्र 50 साल बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि वह बीते गुरुवार से ही लापता थी और परिजन उसकी तलाश में भी लगे थे. बीते शनिवार की शाम को उसका शव गांव में ही सरसों के खेत में पड़ा मिला. इस मामले की जानकारी तुरंत ही पुलिस और उसके परिजन को दी गई, जिससे वह भी मौके पर पहुंच गए. वहीं, मामले को लेकर फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने साक्ष्य जुटाए हैं.

फार्मा कंपनी के कर्मचारी की हत्या के पीछे किसी तरह का विवाद होने की भी आशंका जाहिर की जा रही है. पुलिस भी लगातार इसकी जांच में लगी हुई है. मामले के बारे में थाना जगदीशपुरा के प्रभारी निरीक्षक बीएन सिंह ने बताया कि सेवला सराय स्थित नगला परसौती निवासी किशोर कुमार एक ड्रग फार्मा कंपनी में बिलिंग का कार्य करते थे. किशोर बीते गुरुवार की सुबह दस बजे घर से आफिस जाने के लिए निकले थे, जिसके बाद वह गांव मघटई पहुंचे. उन्होंने यहां एक मैकेनिक के पास अपनी बाइक खड़ी की और बाइक में लगे बैग में ही अपना मोबाइल छोड़ दिया.

युवती ने निभाया दिव्यांग प्रेमी का साथ, मंदिर में लिये 7 फेरे

बाइक छोड़ने के बाद वह पानी की बोतल लेकर चले गए और शाम तक भी अपने घर नहीं पहुंचे. ऐसे में परिजनों ने उन्हें फोन किया तो वह भी स्विच ऑफ मिला. इसपर किशोर कुमार के परिवार ने उनकी तलाश करनी शुरू कर दी. वहीं रात को करीब आठ बजे पुलिस को एक मैकेनिक की दुकान के पास उनकी बाइक के खड़े होने की जानकारी मिली. पुलिस ने बाइक नंबर की मदद से परिजनों से बात की और मामले की जानकारी उन्हें दी. ऐसे में दोनों ने मिलकर उनकी तलाश शुरू कर दी. वहीं, शनिवार की शाम करीब छह बजे मघटई में सरसों के खत में एक व्यक्ति की लाश होने की जानकारी मिली. पुलिस अपनी टीम के साथ वहां पहुंची और उसकी शिनाख्त किशोर कुमार के रूप में हुई, जिसका गला रेतकर हत्या कर दी गई थी. किशोर के जेब में आधारकार्ड और 400 रुपये भी रखे मिले थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें