चांदी कारोबारी से 43 लाख की लूट के मामले में पुलिस ने आरोपी सिपाही को किया अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 3:59 PM IST
ताजनगरी में मथुरा के चांदी कारोबारी से 43 लाख रुपए लूट के मामले में आरोपी सिपाही को पुलिस गिरफ्तार कर लिया है. अब पुलिस वाणिज्य कर अधिकारियों की गिरफ्तारी के लिए उनकी तलाश में जुटी हुई है. पुलिस द्वारा जल्द ही उनको अरेस्ट कर लिया जाएगा.
आगरा में चांदी कारोबारी से लूट के मामले में पुलिस ने आरोपी सिपाही को गिरफ्तार कर लिया है.

आगरा. आगरा में चांदी कारोबारी से 43 लाख रुपये लूट के मामले में पुलिस ने आरोपी सिपाही को गिरफ्तार कर लिया है. इसके बाद पुलिस अब वाणिज्यकर विभाग के अधिकारियों की गिरफ्तारी की तैयारियों में जुटी है. उनकी गिरफ्तारी के लिए शासन की अनुमति लेने की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है. पुलिस अब आरोपी अधिकारियों की तलाश में जुटी हुई है.

आपको बता दें कि मथुरा के गोविंद नगर क्षेत्र में 30 अप्रैल को चांदी कारोबारी प्रदीप अग्रवाल अपने चालक के साथ गाड़ी से बिहार के कटिहार से लौट रहे थे. उनकी गाड़ी में एक थैले में चांदी के जेवरात की बिक्री के 43 लाख रुपये रखे थे. लखनऊ एक्सप्रेस वे के फतेहाबाद टोल प्लाजा पर मिले वाणिज्यकर के अधिकारियों ने चेकिंग के नाम पर उन्हें रोका. इसके बाद कार्यालय लाकर 43 लाख रुपये लूट लिए. इस मामले में कारोबारी ने लोहामंडी थाने में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. विभागीय जांच रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस ने मुकदमे में असिस्टेंट कमिश्नर वाणिज्यकर अजय कुमार, वाणिज्यकर अधिकारी शैलेंद्र कुमार, सिपाही संजीव कुमार और प्राइवेट गाड़ी चालक दिनेश कुमार का नाम मुकदमे में दर्ज किया है. इसकी विवेचना सीओ सदर राजीव कुमार कर रहे हैं.

आगरा: महिला पार्षद ने अस्पताल संचालक पर लगाया टॉयलेट में बंद करने और अभद्रता करने का आरोप

जानकारी के अनुसार पुलिस ने लखनऊ एक्सप्रेस वे के फतेहाबाद टोल प्लाजा के सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ले लिए हैं जिसमें सिपाही संजीव कुमार कारोबारी की गाड़ी को रोकता हुआ दिख रहा है. मुकदमा दर्ज होने के बाद से सभी आरोपी अंडरग्राउंड हो गए थे. सोमवार को पुलिस ने सिपाही संजीव कुमार को गिरफ्तार कर लिया. उससे कई घंटे तक पूछताछ की गई.लेकिन वह घटना में अपनी अनभिज्ञता जताता रहा.इस मामले में पुलिस अब आरोपी असिस्टेंट कमिश्नर और अन्य लोगों की तलाश कर रही है. जल्द ही इनकी भी गिरफ्तारी हो सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें