आगरा में दरोगा ने बुलंदशहर के व्यापारी से हड़पे रुपये, जानसे मारने की दी धमकी

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 07:41 PM IST
  • आगरा के थाना शाहगंज में जीआरपी के दरोगा नकुल सिंह पर बुलंदशहर के व्यापारी से रुपये हड़पने का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं, दारोगा पर रुपये हड़पने के साथ-साथ लूट, मारपीट, जान से मारने की धमकी और छेड़छाड़ की धारा को लेकर मुकदमा भी दर्ज किया गया है.
जीआरपी के दरोगा नकुल सिंह पर बुलंदशहर के व्यापारी से रुपये हड़पने का मामला सामने आया है

आगरा: आगरा के थाना शाहगंज में जीआरपी के दरोगा नकुल सिंह पर बुलंदशहर के व्यापारी से रुपये हड़पने का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं, दारोगा पर रुपये हड़पने के साथ-साथ लूट, मारपीट, जान से मारने की धमकी और छेड़छाड़ की धारा को लेकर मुकदमा भी दर्ज किया गया है. यह सभी आरोप बुलंदशहर की आवास विकास कॉलोनी के निवासी कैटरिंग व्यापारी ने दरोगा नकुल सिंह के खिलाफ लगाए हैं और मुकदमा भी दर्ज करवाया है.

कैटरिंग व्यारापारी ने दरोगा नकुल सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह उनके थाना क्षेत्र की चौकी पर तैनात थे और इसी दौरान व्यापारी की मुलाकात नकुल सिंह से हुई थी. नकुल सिंह को पेट्रोल पंप पर मारपीट के मामले में निलंबित कर दिया गया था. ऐसे में दरोगा ने बुलंदशहर के व्यापारी से 10 लाख रुपये उधार देने की मदद मांगी थी. लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी दरोगा ने उनके पैसे वापस नहीं लौटाए.

बेटी की शादी कार्ड बांटकर लौट रहे पिता की हादसे में मौत, घायल बुआ को भेजा आगरा

इस साल दिवाली से दो दिन पहले दरोगा ने बुलंदशहर के व्यापारी के पास फोन कर अपनी बेटी का एडमिशन एमबीबीएस में कराने का दबाव बनाया. नकुल सिंह ने कहा कि वह एडमिशन कराने के बाद ही पैसे लौटाएगा. वहीं, व्यवसाई ने भी पैसों के लिए दाखिला कराने का झूठ बोल दिया. ऐसे में दरोगा ने दो बार में व्यवसाई के खाते में तीन लाख रुपये ट्रांसफर किये. इसके बाद दरोगा ने 2 लाख रुपये और देने के लिए उन्हें अपने होटल पर बुलाया.

व्यवसाई अपने परिवार के साथ इरादतनगर जा रहे थे, लेकिन पैसों के लिए वह दरोगा के होटल पर गए. वहां पहुंचने के बाद दरोगा ने व्यवसाई को जबरन शराब पिलाई और उनकी पत्नी से छेड़छाड़ की. वहीं, दरोगा ने व्यवसाई को एकांत में ले जाकर उससे मारपीट की व एक लाख रुपये और मोबाइल भई छीन लिये. पीड़ित की शिकाय पर दरोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें