ताजनगरी में फिर खराब हुई हवा, एक्यूआई पहुंचा 331 के पार

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 09:07 PM IST
  • आगरा में चारों तरफ हो रहे निर्माण कार्यों के कारण प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. हवा की स्थिति भी आगरा में बेहद खतरनाक हो चुकी है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रयण बोर्ड द्वारा जारी किये गए इंडेक्स में भी बीते गुरुवार को आगरा में हवा की स्थिति बेहद खराब दर्ज की गई.
आगरा में फिर बढ़ा प्रदूषण

आगरा: आगरा में चारों तरफ हो रहे निर्माण कार्यों के कारण प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. हवा की स्थिति भी आगरा में बेहद खतरनाक हो चुकी है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रयण बोर्ड द्वारा जारी किये गए इंडेक्स में भी बीते गुरुवार को आगरा में हवा की स्थिति बेहद खराब दर्ज की गई. बताया जा रहा है कि जहां प्रदेश में आगरा आठवां सबसे प्रदूषित क्षेत्र रहा तो वहीं देश में प्रदूषित शहरों में आगरा का स्थान 15वां रहा. ताजनगरी में एक्यूआई लेवल 331 दर्ज किया गया था.

रिपोर्ट के अनुसार आगरा की हवा में खतरनाक कार्बन मोनोऑक्साइड की मात्रा सामान्य से 35 गुना तक ज्यादा हो गई, साथ ही धूल कण भी हवा में सामान्य से दस गुना ज्यादा रहा. आगरा में आईएसबीटी पर धूल कणों (पीएम-10) मात्रा सामान्य से 10 गुना तक पहुंच गई. हैरान करने वाली बात तो यह है कि पीएम 10 की मात्रा 900 से 987 के बीच बनी रही. बता दें कि यहां एनएचएआई सड़क पर निर्माण कार्य करा रही है, जिससे धूल का गुबार हमेशा उड़ता रहता है.

सेवानिवृत्त पुलिसकर्मियों को साइबर अपराधी ने बनाया शिकार, IG ने जारी की एडवाइजरी

आगरा शहर में निर्माण कार्यों के कारण जगह-जगह धूल कणों में अंतर दर्ज किया गया. जहां जिले में पुराने शहर में धूल कण कम रहे, तो वहीं खोदाई वाली और ट्रैफिक वाली जगहों ज्यादा रहे. बताया जा रहा है कि नवंबर के आखिर में हवा की स्थिति कुछ ठीक हुई थी लेकिन इसके बाद लगातार बिगड़ती जा रही है. आगरा में ईदगाह में एक्यूआई 452 तो आगरा फोर्ट स्टेशन के पास एक्यूआई 417 दर्ज किया गया. वहीं, आईएसबीटी में 436, तहसील चौराहा में 417, बाग फरजाना में 415 दर्ज की गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें