कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णन प्रसपा चीफ शिवपाल यादव के चुनावी रथ पर सवार

Nawab Ali, Last updated: Tue, 12th Oct 2021, 1:47 PM IST
  • प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव आज आगरा के बांकेबिहारी भगवान का आशीर्वाद लेने पहुंचे. शिवपाल यादव ने बांकेबिहारी में पूजा अर्चना के बाद सामाजिक परिवर्तन रथयात्रा की शुरुआत की. आज से शिवपाल यादव उत्तर प्रदेश में रथयात्रा के जरिये अपनी चुनावी बिसात बैठने के लिए यात्रा करेंगे.
बांकेबिहारी की नगरी से शिवपाल यादव ने शुरू की सामाजिक परिवर्तन यात्रा साथ मे कांग्रेस के प्रमोद कृष्णन भी मौजूद.

आगरा. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव आज वृंदावन के बांकेबिहारी भगवान का आशीर्वाद लेने पहुंचे. शिवपाल यादव ने यूपी विधानसभा चुनाव 2022 आज प्रदेश में सामाजिक परिवर्तन रथयात्रा से प्रदेश की जनता को जागरूक करने निकलेंगे. शिवपाल यादव ने बांकेबिहारी मंदिर में पहुंचकर पूजा अर्चना के साथ ही 101 ब्राह्मणों से आशीर्वाद भी लिया है. चाचा शिवपाल यादव के भतीजे अखिलेश कानपुर से विजय यात्रा का की शुरुआत कर रहे हैं. आज से शिवपाल यादव सामाजिक परिवर्तन रथयात्रा के जरिये प्रदेश में अपनी जमीन तलाशने की कोशिश करेंगे.

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने चुनावी बिगुल फूंक दिया है. आज प्रदेश की कई राजनीति पार्टियों के प्रमुख 2022 यूपी विधानसभा चुनाव को साधने के लिए प्रदेश की यात्राओं पर निकल रहे हैं. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कान्हा की नगरी से अपनी सामाजिक परिवर्तन रथयात्रा की शुरुआत की है. शिवपाल यादव ने ठाकुर बांकेबिहारी के मंदिर में पहुंचकर पूजा अर्चना की. पूजा अर्चना करने के बाद शिवपाल यादव रथयात्रा के लिए निकले. इस दौरान शिवपाल यादव की सामाजिक परिवर्तन रथयात्रा में कांग्रेस के नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन भी उनके साथ रथ पर सवार हुए. शिवपाल यादव सपा के साथ 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में उतरने के इच्छुक हैं. लेकिन अभी तक उनके गठबंधन को लेकर कोई भी खास पहल अखिलेश यदव ने नहीं की है.

Vikas Dubey Encounter: एंटी डकैती कोर्ट ने CD बताई अधूरी, हार्ड कॉपी की मांग

अखिलेश यादव के साथ गठबंधन को लेकर शिवपाल यादव का कहना है कि राजनीति में हमेशा संभावनाएं बनी रहती हैं. गठबंधन की कोई भी अंतिम तिथि नहीं होती है. उन्होंने कहा है कि परिवर्तन यात्रा के जरिये वो प्रदेश की भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करेंगे. आज से अखिलेश यादव कानपुर से विजय यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि क्या अगर गठबंधन नहीं होता है तो चाचा-भतीजे आमने-सामने होंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें