राजस्थान पुलिस ने UP के 5 पुलिसकर्मियों को थाने में बैठाया, फिर 24 घंटे बाद छोड़ा, जानें पूरा मामला

Smart News Team, Last updated: Mon, 17th May 2021, 9:19 AM IST
  • राजस्थान पुलिस ने उत्तर प्रदेश की आगरा के पांच पुलिसकर्मियों को 24 घंटे थाने में बैठाए रखने के बाद छोड़ा. दरअसल आगरा पुलिस राजस्थान के धौलपुरा थाना के कंचनपुर स्थित कछपुरा गांव में 4 गोतस्करों को पकड़ने गई थी. जहां पर पिल्स के ऊपर ग्रामीणों ने हमला कर दिया. जिसमे पुलिस ने गोलीबारी कर दी थी.
राजस्थान पुलिस ने UP के 5 पुलिसकर्मियों को थाने 24 घंटे थाने में बैठाए रखने के बाद छोड़ा

आगरा. राजस्थान के धौलपुर थाने की पुलिस ने उत्तर प्रदेश की आगरा पुलिस के 5 पुलिसकर्मियों को 24 घंटे तक थाने में बैठाकर रखा. वही उन्हें 24 घंटे बाद छोड़ा. दरअसल अगर पुलिस एक गोतस्कर के गिरोह के सदस्यों को पकड़ने के लिए वहां गई थी, लेकिन गिरोह के गांव वालों ने पुलिस पर ही हमला कर दिया. जिसमे बचाव के लिए पुलिस ने गोली चला दी. जो एक महिला को लग गई. आगरा पुलिस के आलाधिकारी तो गिरोह के पांच लोगों को गिरफ्तार करके लेकर चली गई, लेकिन पांच पुलिसकर्मी पीछे ही छूट गए. जिन्हें राजस्थान पुलिस ने 24 घंटे तक थाने में बैठाकर रखा. 

जानकारी के अनुसार आगरा पुलिस ने एक गोतस्कर के गिरोह के 9 लोगों को 8 मई को गिरफ्तार किया था. जिनसे पूछताछ के बाद पता चला कि एक गिरधारी नाम सामने आया जो राजस्थान से बिहार और यूपी में गोतस्करी करता है. जिसे आगरा पुलिस ने राजस्थान की सीमा पर पकड़ लिया. जिसके बाद गिरधारी के साथियों को पकड़ने के लिए आगरा पुलिस राजस्थान के धौलपुरा थाना के कंचनपुर स्थित कछपुरा गांव से 4 और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. 

योगी सरकार का फैसला, कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार के लिए देगी 5000 रुपए

वही जब आगरा पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया तो उसके गनव वालों ने पुलिस को ही घेर लिया. भीड़ से बचने के लिए पुलिस ने ग्रामीणों के ऊपर फायरिंग कर दी. इस गोलीबारी में एक महिला को गोली लगने से वह घायल हो गई. वही पकड़े गए आरोपियों को आगरा पुलिस लेकर चलती बनी, लेकिन राजस्थान पुलिस ने एसआई हरिओम और 4 पुलिसकर्मियों को थाने पर ही रोक लिया. जिन्हें 24 घंटे बाद छोड़ा गया. वही इस गोलीबारी में घायल हुए महिला के परिजनों ने अगर पुलिस पर मुकदमा कर दिया है. तो वही दूसरी तरफ अगर पुलिस ने 200 से ज्यादा अज्ञात ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज करवाया है.

शिक्षक संघ की मांग- पंचायत चुनाव के दौरान मरने वाले टीचरों को मिले ये सुविधाएं

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें