बच्चों के झगड़े में SC/ST एक्ट में केस दर्ज, डर से जिंदा जल गई फौजी की बीवी, मौत

Smart News Team, Last updated: 12/10/2020 11:10 PM IST
  • आगरा के पुष्पांजलि ईको सिटी कॉलोनी में बच्चों के बीच झगड़ा को लेकर पड़ोसी ने सेना से रिटायर फौजी और उनके परिवार पर एससी एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज करा दिया. कहा जा रहा है कि इसके डर से रिटायर फौजी की पत्नी की जिंदा जल कर मौत हो गई. परिवार वालों का आरोप है कि पड़ोसियों ने ही जला कर मार डाला है.
बच्चों के झगड़े में दर्ज कराया SC/ST एक्ट में केस, डर से जिंदा जल गई महिला

आगरा. आगरा के पुष्पांजलि ईको सिटी कॉलोनी में बच्चों की लड़ाई में एससी एसटी एक्ट में केस दर्ज होने के बाद महिला की जलकर मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक पुष्पांजलि ईको सिटी कॉलोनी में बच्चों की मामूली लड़ाई ने गंभीर रूप ले लिया. कॉलोनी में रिटायर फौजी के बच्चों का झगड़ा पड़ोस में साथ खेल रहे बच्चों से हो गया. इस पर फौजी के परिवार पर एससी एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज करा दिया गया. बताया जा रहा है कि इस बात से परेशान रिटायर फौजी की पत्नी थोड़ी देर बाद आग की लपटों से घिरी मिली. आग बुझाने के बाद परिजन तुरंत हॉस्पिटल ले गए. वहां से उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया गया. दिल्ली में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. मामले में परिजनों ने पड़ोसियों पर महिला को जलाकर मार डालने का आरोप लगाया है.

मामले में पुलिस ने बताया की शुक्रवार को ताजगंज क्षेत्र के पुष्पांजलि ईको सिटी कॉलोनी में सेना के सेवानिवृत्त हवलदार अनिल राजावत के सात वर्षीय जुड़वां बच्चे पड़ोसियों के बच्चों के साथ खेल रहे थे. अनिल की पत्नी संगीता रजावत दूध लेने गई थीं. इस दौरान अनिल के बच्चों का पड़ोस के ही भरत खरे के बच्चों से लड़ाई हो गई. मारपीट के दौरान भरत के बेटे को चोट लग गई. इसके बाद मामला तूल पकड़ लिया. भरत ने अनिल रजावत और उनके परिवार के खिलाफ एससी एसटी एक्ट के तरत केस दर्ज करा दिया.

आगरा: झगड़ा कर मायके गई पत्नी नहीं लौटी तो पति ने लगाई फांसी

इस मामले में कॉलोनी वालों ने पुलिस को बताया कि रविवार की शाम केस में समझौते को लेकर कॉलोनी में पंचायत हुई. आरोप है कि भरत ने समझौते में दस लाख रुपये मांगे. बाद में पांच लाख देने को कहने लगा. वहीं, अनिल इलाज के लिए भी तैयार थे. लेकिन दोनों पक्षों में सहमति नहीं बन पाई. इस बारे में अनिल कॉलोनी के ही कुछ लोगों से बात कर रहे थे. तभी अंदर से उनकी पत्नी के चिखने की आवाज आई. लोग दौडंकर वहां पहुंचे तो देखा वह चीखते चिल्लाते आग से घिरी हुई सड़क की ओर दौड़ी आ रही थीं. कॉलोनी के लोगों ने जल्दी से बालू डालकर आग बुझाया. उन्हें गंभीर हालत में मिलिट्री अस्पताल ले जाया गया. हालत गंभीर देख संगीता को दिल्ली रैफर कर दिया गया. वहां संगीता की मौत हो गई. अब मामले में अनिल ने पड़ोसी भरत खरे और उनके रिश्तेदारों पर पत्नी को जिंदा जलाकर मार डालने का आरोप लगाया है.

आगरा जेल में बंद बाहुबली MLA विजय मिश्रा के मोबाइल से रंगदारी मांगी, जांच शुरू

इस मामले में एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि रिटायर फौजी की तरफ से जो तहरीर मिलेगी उस पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा और पुलिस पहले जांच करेगी. उसके बाद साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई होगी. पहले पक्ष की तहरीर पर मुकदमा जरूर लिखा गया था मगर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी. उसमें भी पहले जांच होती. घटना सही पाई जाती तब कार्रवाई होती.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें